October 19, 2021

अल्मोड़ा: पूर्व नगर व्यापार मंडल अध्यक्ष संजय साह ने प्रभारी मंत्री को सौंपा ज्ञापन,व्यापारियों के बैंक ऋण और बिजली, पानी बिल माफ करने की मांग की

 1,902 total views,  2 views today


देश में एक बार कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर जारी है। उत्तराखंड में भी यही हालात बने हुए है। वही कोविड कर्फ्यू लगने से कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सका है। वही उत्तराखण्ड में कोविड कर्फ्यू को एक बार फिर लागू कर दिया गया है। वही कोरोना काल में व्यापारियों को भी बड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ा है। इसी संबंध में पूर्व नगर व्यापार मंडल अध्यक्ष संजय साह (रिक़्खू) ने जिले के वन श्रम एंव आयुष मंत्री (प्रभारी मंत्री अल्मोड़ा) हरक सिंह रावत से वार्ता की।

जिले के प्रभारी मंत्री हरक सिंह रावत को सौंपा ज्ञापन-

पूर्व नगर व्यापार मंडल अध्यक्ष संजय साह (रिक़्खू) ने कोविड कर्फ्यू के चलते बंदी के कारण व्यापारियों की समस्याओं को लेकर गहरी चिंता जताई है। इस संबंध में उन्होंने ​जिले के प्रभारी मंत्री हरक सिंह रावत से इस संबंध में वार्ता की और उन्हें ज्ञापन सौंपा है।

पूर्व नगर व्यापार मंडल अध्यक्ष संजय साह ने की यह मांग-

पूर्व नगर व्यापार मंडल अध्यक्ष संजय साह (रिक़्खू) ने कहा कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर हर उम्र के लोगों को अपनी चपेट में ले रही है। जिससे बुजुर्गों, युवा वर्ग और बच्चों के लिए खतरा बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण सभी के सामने परिवार के भरण—पोषण व रोजी-रोटी का सवाल खड़ा हुआ है। ऐसे परिवार भी अधिसंख्य हैं, जिनके लिए दो जून की रोटी का इंतजाम करना मुश्किल हो गया है। वही लगभग दो माह से होटल, मिठाई, रेस्टोरेंट, ग्रेटर हाउस, रेडीमेट, इलेक्ट्रानिक्स के व्यापारिक प्रतिष्ठान पूर्णतः बन्द पडे हैं और कई व्यापारियों ने बैंक से ऋण लिया है, अब उनके सामने बैंक की किश्त देना एक बड़ी चुनौती बनकर खड़ी हो गयी है। इसके अलावा लोगों के ऊपर जल संस्थान एवं विद्युत विभाग बिलों के भुगतान के लिए लगातार दबाव बन रहा है, यहां तक कि कनेक्शन काटने की धमकियां दी जा रही हैं।

सभी व्यापारियों कि दो माह का बैंक के ऋण का ब्याज व दो माह का बिजली व पानी का बिल हो माफ-

जिसमें व्यापारियों को भी आर्थिक नुकसान न हो। इसके लिए नगर व्यापार मंडल के पूर्व अध्यक्ष ने प्रभारी मंत्री हरक सिंह रावत से अनुरोध किया है कि वह मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से वार्ता करे और इस संबंध में सभी व्यापारियों के दो माह का बैंक के ऋण का ब्याज व दो माह का बिजली व पानी का बिल माफ किए जाने की मांग की।