January 27, 2022

अल्मोड़ा: चौखुटिया में 6 छोटे बच्चों की आईवरमैक्टीन दवा खाने से बिगड़ी तबियत

 1,814 total views,  6 views today

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए आईवरमैक्टीन की दवा दी जा रही है। जिसमें अल्मोड़ा में भी यह दवा अभियान के तहत दी जा रही है। वही चौखुटिया में सामु0स्वा0केन्द्र, चौखुटिया में करीब 6 छोटे बच्चें जिनकी आयु लगभग 3 से 5 वर्ष है। उनके द्वारा  आईवरमैक्टीन की दवा खाये जाने के कारण स्वास्थ्य बिगड़ गया।

6 शिशु का बिगड़ा स्वास्थ्य-

चौखुटिया में करीब 6 शिशु जिनकी आयु लगभग 3 से 5 वर्ष है। उनकी तबियत बिगड़ गई। जिस कारण बच्चों के आईवरमैक्टीन की गोलिया खाने के चलते कईं बच्चे गंभीर अवस्था में अस्पताल लाये गए। जहां प्राथमिक उपचार के बाद बच्चे स्वस्थ हैं।

अनजाने में खा ली थी दवा-

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सक डॉक्टर अमित रतन ने बताया कि अभिभावकों की गलती व बच्चों ने अनजाने में आईवरमैक्टीन की गोलियां ले ली थी। जिस कारण उनका स्वास्थ्य बिगड़ गया था।

बच्चों को बिना चिकित्सक के सलाह के न दे यह दवा-

जिसमें यह भी बताया कि 10 वर्ष तक की आयु वाले बच्चों को बिना चिकित्सक के सलाह के यह दवा नहीं खिलाई जानी है। बी0एल0ओ0 द्वारा आईवरमैक्टीन दवा के साथ प्राप्त पेपर में इस दवा को खाने की विधि भी स्पष्ट लिखी  गई है।

जान लें दवा खाने की विधि-

कई अभिभावकों द्वारा आईवरमैक्टीन की गोलियां को बच्चों की पहुंच से दूर नहीं रखा जा रहा है, जिस कारण बच्चों के आईवरमैक्टीन की गोलिया खाने के चलते कईं बच्चों की तबियत बिगड़ी है। इसलिए आईवरमैक्टीन की गोली बच्चों की पहुच से दूर रखें व बी0एल0ओ0 द्वारा प्राप्त दवा खाने की विधि वाले पेपर के अनुसार ही दवा लें।