October 26, 2021

अल्मोड़ा: जिलाधिकारी ने अधिकारियों को दिए निर्देश, जल्द आईसीयू वार्ड होंगे संचालित, 25 मई तक ऑक्सीजन प्लांट भी कार्य करना करेगा शुरू।

 93 total views,  4 views today

देश भर में कोरोना संक्रमण का कहर तेजी से बढ़ रहा है। हर रोज मरीजों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। उत्तराखंड में भी कोरोना संक्रमण का वायरस तेजी से फैल रहा है, जिससे मरीजों को सबसे ज्यादा परेशानी फेफड़ों से संबंधित हो रही है। जिसमें मरीजों को ऑक्सीजन की सबसे ज्यादा जरूरत पड़ रही है। वही अल्मोड़ा में ऑक्सीजन जनरेशन का कार्य चल रहा है। जिसका आज जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने निरिक्षण किया। उन्होंने इसके साथ ही आईसीयू वार्ड का भी निरीक्षण किया।

जिलाधिकारी ने संस्था के अधिकारियों को दिए निर्देश-

जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने एचएलएल संस्था के बनाये जा रहे ऑक्सीजन प्लांट का स्थलीय निरीक्षण किया। जिसमें उन्होंने संस्था के अधिकारियों को निर्देश दिये कि जल्द से जल्द प्लांट स्थापित कर ऑक्सीजन सप्लाई प्रारंभ कर दी जाये। इस दौरान जिलाधिकारी ने सभी आवश्यक उपकरणों के लिये समय सीमा निर्धारित करते हुऐ कहा कि उच्च प्राथमिकता वाले इस प्रोजेक्ट को जल्द संचालित किया जाए।

25 मई तक ऑक्सीजन प्लांट कार्य करना कर देगाशुरू-

जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने कहा कि सिविल वर्क के लिए तीन दिन की समय सीमा निर्धारित की गई है, उसके उपरान्त इन्स्टालेशन व टैस्टिंग की कार्रवाई की जाएंगी। जिसके बाद 22 मई तक प्लांट लगा दिया जाऐगा, इसके बाद दो टैस्टिंग की कार्रवाई होगी। जिसके बाद 25 मई से प्लांट कार्य करना शुरू कर देगा।

मरीजों के लिए ऑक्सीजन की काफी हद तक होगी आपूर्ति-

जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने कहा कि 500 एलपीएम के इस प्लांट से काफी हद तक ऑक्सीजन की आपूर्ति पूरी होगी।

जिलाधिकारी ने आईसीयू वार्ड का भी किया निरिक्षण-

जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने निमार्णधीन आईसीयू कक्ष का भी निरीक्षण किया। इसके लिए जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि आईसीयू वार्ड को भी 25 मई तक संचालित किया जाये। जिसके बाद 20 बेड के आईसीयू वार्ड के बन जाने से इसमें गंभीर कोरोना मरीजों को ईलाज होगा। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को आईसीयू वार्ड को जाने वाली रोड को भी 20 मई से पूर्व बनाने के निर्देश दिये।

इस दौरान यह लोग रहें मौजूद-

इस मौके पर प्राचार्य मेडिकल कालेज आरजी नौटियाल, सीएमओ डा. सविता हयांकी, पीएमएस बेस अस्पताल डा. एससी गढ़कोटी, डा. अजय आर्या, पांडे, राजेश खेतवाल, आपदा प्रबंधन अधिकारी राकेश जोशी, रजनेश जोशी मौजूद रहे।