October 16, 2021

अल्मोड़ा: एसएसजे विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. नरेंद्र सिंह भंडारी व उनकी पत्नी ने मीत पीपल अभियान की शुरुआत की।

 316 total views,  7 views today


उत्तराखंड एक चेतना से भरा हुआ राज्य है। सामाजिक, राजनैतिक,सांस्कृतिक एवं पर्यावरणीय चेतना को लेकर यहां के आंदोलन, अभियान, मुहिम और जनजागरुकता के प्रयास देश का ध्यान सदा आकर्षित करते रहे हैं।

पर्यावरण संरक्षण को लेकर मीत पीपल अभियान की करी शुरुआत-

पर्यावरण संरक्षण को लेकर सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय अल्मोड़ा के कुलपति प्रोफेसर नरेंद्र सिंह भंडारी व उनकी पत्नी संजना भंडारी ने मीत पीपल अभियान की शुरुआत की है।

अल्मोड़ा से शुरू किया मीत पीपल अभियान-

मीत पीपल अभियान की शुरुआत अल्मोड़ा से शुरू की गई है। अल्मोड़ा का एक अपना इतिहास रहा है। राष्ट्रीय चेतना, सांस्कृतिक चेतना, सामाजिक चेतना और पर्यावरणीय चेतना उत्पन्न करने के लिए इस अल्मोड़ा नगरी का योगदान सराहनीय है। आज भी इसी परम्पराओं का निर्वहन हो रहा है। इसी क्रम में यहां से मीत पीपल अभियान का शुरू होना भी हमारे लिए सुखद क्षण है।

जाने किन अभियानों से जोड़ा गया मीत पीपल अभियान-

इस राज्य में जनांदोलनों/अभियानों/मुहिम की फेहरिस्त काफी लंबी है। हम यहां वन बचाने, कुप्रथाओं के अंत, वनों से भावनात्मक लगाव को चिपको आंदोलन, कुली बेगार आंदोलन, मैती आंदोलन में देख सकते हैं। जिनमें यह आंदोलन चर्चित रहे हैं। ऐसे में मीत पीपल अभियान भी इन अभियानों में जुड़ गया है।