October 22, 2021

कोरोना वैक़्सीन का तीसरा चरण शुरू, अप्रैल में छुट्टियों के दिन भी लोगों को लगाई जाएगी कोरोना वैक्सीन।

 276 total views,  2 views today

1 अप्रैल से कोरोना वैक़्सीन अभियान का तीसरा चरण शुरू हो गया है। जिसमें 45 से अधिक उम्र वालों को कोरोना वैक्सीन लगाई गई। सरकार ने देश की बड़ी आबादी को जल्द से जल्द वैक्सीनेशन करने के मकसद से यह कदम उठाया है। इसी बीच भारत सरकार ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि अब अप्रैल में छुट्टियों के दिन भी लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी। देश के सभी सार्वजनिक और निजी कोविड-19 वैक्सीनेशन सेंटर पर अप्रैल के सभी दिनों में वैक्सीनेशन किया जाएगा। कोरोना वैक़्सीन के तीसरे चरण में करीब 40 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाने का टारगेट रखा गया है। इससे पहले देश में 16 जनवरी को कोरोना टीकाकरण अभियान का आगाज किया गया था। वही दूसरा चरण 1 मार्च से शुरू हुआ था।
वही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक कुल 6,51,17,896 लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

16 जनवरी से पहले चरण की हुई थी शुरूआत-

16 जनवरी को देश में कोरोना वैक्सीनेशन के महाभियान की शुरुआत की गई थी, जिसमें सबसे पहले 3 करोड़ स्वास्थ्य कर्मचारियों और फ्रंटलाइन वर्करों को टीका लगाया गया। इसके बाद 50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाई गई। वही कम उम्र के लोग जो गंभीर बीमारी से पीड़ित थे, उनको भी पहले वैक्सीन लगाई गई। जिसमें ऐसे लोगों की संख्या करीब 27 करोड़ रही।

1 मार्च से शुरू हुआ था दूसरा चरण-

पूरे देश में 1 मार्च से वरिष्ठ नागरिकों (60 वर्ष से ऊपर) व बीमार व्यक्तियों (20 चिह्नित बीमारियों से ग्रसित 45-60 वर्षीय लोग) को टीका लगना शुरू हुआ। प्रथम दिन बहुत कम संख्या में लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया था। सरकारी अस्पतालों में निश्शुल्क व निजी अस्पताल में लोगों ने ढाई सौ रुपये शुल्क देकर टीकाकरण कराया। उत्तराखंड राज्य के 70 सरकारी अस्पताल टीकाकरण के लिए तय किए गए । जिसमें पहले दिन 60 वर्ष से ऊपर के 989 व्यक्तियों को टीका लगाया गया, जबकि 45-60 वर्ष के 56 व्यक्तियों का टीकाकरण किया गया। सुबह 9:30 बजे से ही टीकाकरण शुरू हो गया था। सभी बूथों पर सुरक्षा के अच्छे इंतजाम रहे। वैक्सीन के साथ ही इमरजेंसी दवाओं की किट पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध रही। किसी की तबीयत खराब होने की सूचना नहीं है। जिले में पहली बार आम जन को टीका लगाया गया। 60 वर्ष से अधिक व 45 से 59 वर्ष के बीच के बीमार लोगों का टीकाकरण किया गया।

1 अप्रैल से शुरू हुआ तीसरा चरण-

कोरोना टीकाकरण अभियान का तीसरा चरण शुरू हो चुका है। इस चरण में उन लोगों को कोविड-19 वैक्सीन की पहली खुराक दी गई जिनकी उम्र 45 वर्ष या उससे अधिक है। अप्रैल माह में 45 वर्ष से ऊपर वाले 1.62 लाख लोगों का टीकाकरण किया गया। वही गांव-गांव टीका की रफ्तार बढ़े इसके लिए आशा व एएनएम के साथ आंगनबाड़ी की भी ड्यूटी लगाकर लोगों को बुलाया जा रहा है। जिसके लिए तैयारियां चल रही है। वही टीकाकरण केंद्रों की भी संख़्या बढ़ाई गई है । 

अब तक इतने लोगों को लग चुकी है कोरोना वैक़्सीन-

अब तक 65,51,17,896 लोगों को कोरोना वैक़्सीन लगाई जा चुकी है। देश में कोरोना वैक्सीनेशन की शुरुआत 16 जनवरी से हुई थी। 30 मार्च तक 6.30 करोड़ डोज लग चुके हैं। सबसे पहले हेल्थकेयर वर्कर्स को वैक्सीनेट किया गया, इसमें 82 लाख को पहला डोज और 52 लाख को दूसरा डोज दिया जा चुका है। 2 फरवरी से फ्रंटलाइन वर्कर्स का वैक्सीनेशन शुरू हुआ था. अब तक 90 लाख  फ्रंटलाइन वर्कर्स को पहला और 38 लाख को दूसरा डोज दिया जा चुका है। 1 मार्च से 60 वर्ष से ज्यादा, यानी सीनियर सिटिजन्स का वैक्सीनेशन शुरू हुआ था। अब तक 2.90 करोड़ सीनियर सिटिजन्स को पहला और 36,899 को दूसरा डोज दिया जा चुका हे. इसके अलावा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से लिस्टेड 20 बीमारियों में से कोई एक बीमारी होने पर 45 से 59 वर्ष के लोगों को वैक्सीन देना शुरू किया गया था। अब तक ऐसे 72 लाख कैंडिडेट्स को पहला डोज और 4,905 को दूसरा डोज दिया गया है।