December 7, 2021

उत्तराखंड में 6 जुलाई तक लागू हुआ कोविड कर्फ्यू, 50 फीसदी क्षमता के साथ खुलेंगे जिम, बाजार खोलने के समय में कुछ ढील के साथ हुआ बदलाव

 4,989 total views,  6 views today

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी से गिरावट आ रही है। हालातों में सुधार होने लगा है। वही उत्तराखंड में एक बार फिर कोविड कर्फ्यू को अगले एक हफ्ते यानि 6 जुलाई की सुबह 6 बजे तक बढ़ा दिया गया है। जिसमें कुछ ढ़ील के साथ कोविड कर्फ्यू को आगे लागू किया गया है। जिसकी जानकारी शासकीय प्रवक्ता सुबोध उनियाल ने दी।

50 फीसदी क्षमता के खुलेंगे जिम और कोचिंग सेंटर-

अब उत्तराखंड सरकार ने लगभग सवा दो माह से बंद जिम और कोचिंग सेंटर खोलने की भी तैयारी कर दी है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से बीती 18 अप्रैल से जिम और कोचिंग सेंटर बंद पड़े है। जिसके बाद अब सरकार ने 50 फीसदी क्षमता के साथ जिम और कोचिंग सेंटर खोलने के आदेश दिए है।

हफ़्ते में 6 दिन खुले रहेंगे बाजार-

कोविड कर्फ्यू को आगे 6 जुलाई तक बढ़ा दिया गया है। जिसमें कुछ ढील के साथ कोविड कर्फ्यू लागू किया गया है। इस दौरान अब बाजारों को हफ्ते में छह दिन खोलने की अनुमति है। वही रविवार को साप्ताहिक बंदी रहेगी। इसी के साथ अब राज्य में सभी बाजार  सुबह 8 बजे से शाम 7 बजे तक खुलेंगे। इसके बाद कोविड कर्फ्यू लागू रहेगा। हालांकि होटल व रेस्टोरेंट रात दस बजे तक 50 फीसदी क्षमता के साथ खुल सकेंगे।

नैनीताल और मसूरी घूमने आए सैलानियों को बड़ी राहत-

उत्तराखंड सरकार ने कोविड कर्फ्यू के दौरान व्यापारियों और पर्यटकों को बड़ी राहत देते हुए 6 दिनों तक बाजार खोलने की अनुमति दी है। इसके साथ ही मसूरी और नैनीताल भी 6 दिनों तक खुले रहेंगे, लेकिन मंगलवार को कोविड कर्फ्यू लागू रहेगा। वीकेंड पर मसूरी और नैनीताल में काफी संख्या में सैलानी पहुंच रहे हैं, लेकिन आसपास के पिकनिक स्पाट बंद होने से उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सैलानियों की सहुलियत के लिए सरकार ने यह फैसला लिया है।

उत्तराखंड में प्रवेश करने पर आरटीपीसीआर की रिपोर्ट अनिवार्य-

इसी के साथ अन्य प्रदेशों से उत्तराखंड में प्रवेश करने पर कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना अभी भी अनिवार्य किया गया है। इसमें आरटीपीसीआर, एंटीजन और ट्रूनेट जांच शामिल हैं। वही संबंधित जांच की 72 घंटें पूर्व की नेगेटिव जांच के बाद ही राज्य के भीतर प्रवेश की अनुमति दी जाएगी।