October 26, 2021

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने की राहत पैकेज की घोषणा, बच्चों को तीसरी लहर से बचाने के लिए 23,220 करोड़ पैकेज का किया ऐलान

 1,526 total views,  4 views today

देश भर में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का प्रकोप अभी पूरी तरह से खत्म नही हुआ है। हालात अभी भी चिंताजनक बने हुए हैं। वही ऐसे में देश में कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर का भय बना हुआ है। जिस पर आज वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राहत पैकेज की घोषणा की है।

50 हजार करोड़ स्वास्थ्य सेवाओं में दिए-

जिसके तहत सरकार ने स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए 50 हजार करोड़ रुपये दिये है। चिकित्सा व्यवस्था को मजबूत करने के लिए मेडिकल छात्रों व नर्सों की संख्या बढ़ाई जाएगी, जिससे कोरोना की तीसरी लहर में डॉक्टर और नर्सों की कमी ना हो। जिसके लिए इस मद में जो राशि दी गयी है उसे इसी वित्तीय वर्ष में खर्च किया जायेगा।

6.29 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा-

कोरोना काल में आज सरकार ने कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर से बचाने के लिए राहत पैकेज में 23,220 करोड़ रुपये की घोषणा की है। जिसमें यह रूपये आम लोगों के स्वास्थ्य, बच्चे और बाल चिकित्सा व बच्चों के लिए पर्याप्त बेड और आईसीयू की व्यवस्था पर खर्च किए  जाएंगे।

क्रेडिट गारंटी योजना की भी की घोषणा-

इसी के साथ कोरोना के बाद लोगों को राहत देने और अर्थव्यवस्था को मजबूती देने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोविड प्रभावित क्षेत्रों के लिए 1.1 लाख करोड़ रुपये की तीन साल के लिए क्रेडिट गारंटी योजना की भी घोषणा की है।

आत्मनिर्भर भारत योजना को 2022 तक बढ़ाया-

निर्मला सीतारमण ने आज यह घोषणा भी की कि आत्मनिर्भर भारत योजना को 2022 तक बढ़ा दिया गया है। इस योजना के तहत 1000 कर्मचारियों की क्षमता वाली कंपनियों में सरकार पीएफ का कंट्रिब्यूशन इम्प्लाई और इम्प्लॉयर दोनों का भरेगी लेकिन जहां 1000 से ज्यादा कर्मचारी होंगे वहां सिर्फ इम्प्लॉई का 12 प्रतिशत कंट्रिब्यूशन देगी।

ट्रैवल एजेंसियों को 10 लाख रुपये तक का कर्ज और टूरिस्ट गाइड को एक लाख रुपये तक का ऋण देने की भी घोषणा-

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने पर्यटन क्षेत्र को मजबूती देने के लिए ट्रैवल एजेंसियों को 10 लाख रुपये तक का कर्ज और टूरिस्ट गाइड को एक लाख रुपये तक का ऋण देने की घोषणा की। वही टूरिस्ट को आमंत्रित करने के लिए सरकार ने 31 मार्च 2022 तक टूरिस्ट वीजा मुफ्त दिये जाने घोषणा की। वित्तमंत्री ने यह भी घोषणा की कि यात्रा प्रतिबंधों के समाप्त होने के बाद देश की यात्रा पर आने वाले पहले पांच लाख यात्रियों को वीजा फीस से छूट दिया जायेगा।

ECLGS फंडिंग की लिमिट बढ़ाए जाने का भी किया ऐलान-

सीतारमण ने 85,413 करोड़ रुपये के बजट आवंटन के ऊपर 14,775 करोड़ रुपये की अतिरिक्त उर्वरक सब्सिडी उपलब्ध कराने की घोषणा की। इसी के साथ वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने ECLGS फंडिंग की लिमिट बढ़ाए जाने का भी ऐलान किया है। ECLGS फंडिंग की लिमिट बढ़ाकर 4.5 लाख करोड़ रुपये कर दिया गया है।