February 2, 2023

Khabribox

Aawaj Aap Ki

Health tips: लहसुन के जानें फायदें, होता है निमोनिया का इलाज

 3,064 total views,  2 views today

आज हम स्वास्थ्य से संबंधित फायदों के बारे में आपको बताएंगे। निमोनिया (Pneumonia) एक संक्रमण जनित गंभीर बीमारी है जो जानलेवा भी हो सकती है। निमोनिया संक्रमण में फेफड़ों को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचता है। इस बीमारी में शरीर के दोनों फेफड़ो में सूजन और दर्द शुरू हो जाता है। जिसकी वजह से कफ, मवाद और बुकार व ठंड लगने की समस्या होती है। यह बीमारी बच्चों में बहुत खतरनाक मानी जाती है। हर साल निमोनिया की वजह से दुनिया भर में हजारों की संख्या में बच्चों की मौत भी होती है। निमोनिया के लक्षण दिखने के बाद तुरंत इलाज होने पर इस बीमारी से निजात पायी जा सकती है। निमोनिया की बीमारी में आयुर्वेदिक तरीके से इलाज भी फायदेमंद माना जाता है।

🔮निमोनिया के लक्षण-

मरीज की स्थिति के हिसाब से निमोनिया के लक्षण हर व्यक्ति में अलग-अलग हो सकते हैं। कुछ लोगों में निमोनिया संक्रमण होने पर भी गंभीर लक्षण दिखाई नहीं देते हैं और वहीं कुछ लोगों में इस संक्रमण के लक्षण इतने गंभीर होते हैं की मेडिकल इमरजेंसी की स्थिति बन जाती है। शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता के हिसाब से आपका शरीर इस संक्रमण के प्रति प्रतिक्रिया देता है। वयस्क और बच्चों में निमोनिया संक्रमण के लक्षण अलग-अलग होते हैं।

🔮आइए जानें-

निमोनिया की समस्या में लहसुन का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद होता है। लहसुन को आयुर्वेद में असरदार औषधि माना जाता है। लहसुन के इस्तेमाल से कई गंभीर बीमारियों में भी फायदा मिलता है। आप निमोनिया की समस्या में लहसुन का इस्तेमाल कर सकते हैं। रोजाना रात में लगभग एक कप दूध लेकर उसमें उसका चार गुना पानी मिला दें। अब इसमें आधा चम्मच लहसुन का पेस्ट डालकर इसे अच्छी तरह से उबालें। जब यह उबलकर एक कप बचे तो इसे छानकर किसी बर्तन में रखें और हल्का गुनगुना होने पर सेवन करें। ऐसा नियमित रूप से कुछ दिनों तक करने से निमोनिया की समस्या में फायदा मिलता है। इसका सेवन निमोनिया में होने वाली समस्याओं को भी दूर करता है।

🔷लहसुन बैक्‍टीरिया से लड़ने में सक्षम है। यह वायरस और फंगस से शरीर को बचाता है। निमोनिया में लहसुन मददगार साबित हो सकता है। यह शरीर का तापमान कम करने के अलावा छाती व फेफड़ों में जमा बलगम बाहर निकाल सकता है।

🔷आपको करना बस यह है कि एक कप दूध में चार कप पानी मिलाकर इसमें आधा चम्‍मच पिसा लहसुन डालें। अब इसका काढ़ा बना लें। इसे दि न में दो से तीन बार पीएं।

🔷अगर आपको दूध पसंद नहीं या आपको दूध से एनर्जी है तो आप निमोनिया से राहत के लिए लहसुन के साथ ताजा नींबू और शहर का इस्तेमाल कर सकते हैं।

🔷आपको करना यह है कि लहसुन की कुछ कलियों को पीस लें। इसके बाद जितना लहसुन है उतनी ही मात्रा में ताजा नींबू का रस और शहद इसमें मिला लें। इसे दिन में तीन से चार बार लें।

🔷अगर निमोनिया के चलते छाती जाम हो गई है और सांस लेने में तकलीफ है तो छाती पर लहसुन का जूस या पेस्‍ट मलने से आपको राहत मिलेगी।