October 27, 2021

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमित मरीजों को उपचार में दी जाएगी आयुष-64, जाने क़्या होंगे इसके फायदे।

 100 total views,  2 views today

देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर तेजी से घातक होती जा रही है। हर रोज कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी से उछाल आ रहा है। हालात खराब होते जा रहे हैं। वही उत्तराखण्ड राज्य में भी कोरोना संक्रमण में तेजी से बढ़ोत्तरी होने लगी है। उत्तराखंड में लगे संपूर्ण लाॅकडाउन के बाद भी हर रोज बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी आ रही है। बड़ी संख्या में मरीज अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं। उत्तराखंड में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए उत्तराखंड सरकार ने एक पहल शुरू की है।

कोरोना संक्रमित मरीजों को दी जाएगी आयुष-64

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। जिसकी रोकथाम हेतु देश के पहले राज्य के रूप में कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए आयुष-64 के वितरण को व्यापक स्तर पर करने के लिए उत्तराखंड ने पहल की है। जिसमें संक्रमित मरीजों को आयुष-64 दी जाएगी।

इन मरीजों के लिए फायदेमंद है आयुष-64

आयुष- 64 उन कोरोना संक्रमित मरीजों को दी जाएगी जो कोरोना संक्रमण से ज्यादा प्रभावित न हो। केंद्रीय आयुष मंत्रालय की और से जारी मानक प्रचालन प्रक्रिया (एसओपी) के मुताबिक आयुष-64 का उपयोग बिना लक्षण वाले लेकिन कोरोना संक्रमित हुआ है व बेहद कम या बिना आक्सीजन की जरूरत वाले रोगियों के उपचार में फायदेमंद है।

मरीजों को निशुल्क उपलब्ध होंगी आयुष-64

आयुष-64 की उपयोगिता क्लीनिकल ट्रायल में साबित हुई है और इसी को देखते हुए केंद्र सरकार के स्तर से पूरे देश में आयुष-64 को संक्रमित मरीजों को निशुल्क उपलब्ध कराने की योजना पर काम किया जा रहा है। वही कोरोना संक्रमित मरीजों को आयुष-64 उपलब्ध कराने की योजना उत्तराखंड सरकार ने तैयार कर ली है।

जानें क़्यों दी जा रही है आयुष-64-

आयुष के जरिए विभिन्न दवाइयों का उपयोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में किया जाता रहा है। केंद्रीय शोध संस्थाओं के स्तर पर किए गए अध्ययन में यह साबित हुआ है कि आयुष 64 कोरोना रोग के उपचार में भी कारगर है। इससे मरीजों की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी।