October 26, 2021

एसएसजे विश्वविद्यालय अल्मोड़ा का पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग, कोविड-19 विषय पर केंद्रित वीडियो एवं पोस्टर श्रृंखला माध्यम से, समाज को कर रहा जागरूक ।

 153 total views,  4 views today

सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय,परिसर अल्मोड़ा का पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग समाज को कर रहा है जागरुक ।

सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय,परिसर अल्मोड़ा के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग द्वारा कोविड-19 और सामाजिक जागरुकता विषय पर केंद्रित वीडियो एवं पोस्टर श्रृंखला संचालित की जा रही है। विभाग कोविड-19 से बचने के लिए सोशल नेटवर्किंग साइट्स के माध्यम से समाज को जागरुक कर रहा है।

पत्रकारिता विभाग के विद्यार्थी समाज जो जागरूक करने के लिए उचित सन्देश ।

इस अवसर पर त्रिभुवन डोलिया ने ‘कोरोनाकाल में मीडिया का विभाजन और दर्शकों का द्वंद’ विषय पर बात रखते बुरे कहा कि मीडिया को निःस्वार्थ भाव से जनसेवा करनी चाहिए।  संदीप डंगवाल ने ‘नोवल कोरोना वायरस से बचने के उपाय’ विषय पर कहा कि हमें सरकार के नियमों को मानना चाहिए। रक्षिता बोरा ने ‘कोरोनाकाल के दौरान मीडिया के माध्यम से सतर्कता’ विषय पर कहा कि मीडिया बंधु अपने माध्यम से इस विकट स्थिति में अपनी जान की परवाह किये बिना सेवा कर रहे हैं। वो समाज को जागरुक करने के साथ सूचना दे रहे हैं।  आरती बिष्ट ने ‘कोरोना की भयावह स्थिति और ऑक्सीजन संकट और समाधान’ विषय पर केंद्रित वार्ता में कहा कि देश में ऑक्सीजन संकट बना हुआ है,कालाबाजारी बढ़ी है। हमें मानवता का परिचय देना होगा। हमें जमाखोरी पर लगाम लगानी होगी।
विपुल कार्की ने कोरोनाकाल में मीडिया की भूमिका शीर्षक पर कहा कि मीडिया ने कोरोनाकाल में सराहनीय योगदान दिया है। हमें उनकी प्रशंसा करनी होगी।

पत्रकारिता विभाग के शिक्षक डॉ ललित जोशी ने कोविड-19 जैसी महामारी से बचने के लिए शुरू की मुहिम |

पत्रकारिता विभाग के शिक्षक और मुहिम के संयोजक डॉ ललित जोशी ने कोविड-19 जैसी भयावह स्थिति को देखते हुए कहा कि वर्तमान समय में हम भयानक महामारी से जूझ रहे हैं। समूचा विश्व इसके ग्रस्त में अपने को असहाय पा रहा है, ऐसे में हर तरफ नकारात्मक माहौल बना हुआ है।

विद्यार्थियों और जनमानस के साथ मिलकर जनसमाज को जागरुक करना ही है इस  मुहीम का उद्द्देश्य ।

हम अपने विद्यार्थियों और जनमानस के साथ मिलकर जनसमाज को जागरुक कर रहे हैं । सकारात्मक माहौल बना रहे हैं  उन्होंने कहा कि समाज को सूचनाएं देना, जागरुक करना और एक सकारात्मक माहौल तैयार करने की आवश्यकता है।उन्होंने फ्रंट लाइन में खड़े चिकित्सक, मीडियाकर्मी, सुरक्षाकर्मी, स्वच्छक, शासन-प्रशासन के कार्यों की सराहना की। उन्होंने आगे कहा कि सकारात्मक माहौल तैयार करने के लिए इस मुहिम से आप सभी भी जुड़ सकते हैं।