January 24, 2022

उत्तराखंड में भगवान घंटाकर्ण देवरा यात्रा शुरू, 50 से ज्यादा श्रद्धालु शामिल

 2,371 total views,  2 views today

कोरोना काल का दौर जारी है। हालांकि हालात अब ठीक होने लगे हैं। वही उत्तराखंड के जोशीमठ में भगवान घंटाकर्ण देवरा यात्रा शुरू हो गई है। भगवान घंटाकर्ण भोटिया जनजाति के ग्रामीणों के आराध्य देव और बदरीनाथ क्षेत्र के क्षेत्रपाल हैं। 

भगवान घंटाकर्ण देवरा यात्रा शुरू-

उत्तराखंड में भगवान घंटाकर्ण देवरा यात्रा शुरू हो गई है। पांडुकेश्वर गांव के ग्रामीण भारी बर्फबारी के बावजूद भगवान घंटाकर्ण की देवरा यात्रा में वसुधारा को जा रहे हैं।

यात्रा में 50 से ज्यादा श्रद्धालु शामिल –

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का कहर कम होने लगा है, इसके बावजूद भी अभी भी सतर्कता बरतनी बेहद अनिवार्य है। जिसके चलते इस यात्रा में 50 से ज्यादा श्रद्धालु ही शामिल हैं।

बद्रीनाथ धाम में स्थित सभी तीर्थों में जाते हैं भगवान घंटाकर्ण-

भगवान घंटाकर्ण अपने आराध्य भगवान बद्रीनाथ और अपने भाई घंटाकर्ण से मिलने जाते हैं। यात्रा के दौरान भगवान घंटाकर्ण बद्रीनाथ धाम में स्थित सभी तीर्थों में जाते हैं।

भगवान घंटाकर्ण अपने भाई घंटाकर्ण के साथ अवतारी पुरुष पर लेते हैं अवतार-

माणा में भगवान घंटाकर्ण अपने भाई घंटाकर्ण के साथ अवतारी पुरुष पर अवतार लेते हैं। इसके बाद भगवान बद्रीनाथ से मिलने के बाद बामनी गांव में कुबेर भगवान को बुलाकर गाडू विशेष पूजा अर्चना होती है। इस दौरान पांडुकेश्वर के लोग यात्रा काल मे अपने गांव बामणी गांव में रहते हैं। जिसमें लोग 6 माह भगवान बद्रीनाथ की भक्ति में लीन रहते हैं और विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम आयोजित करते हैं।