October 23, 2021

रानीखेत: आज कोतवाल और अस्पताल के सर्जन सहित 50 से अधिक लोगों में हुई कोरोना संक्रमण की पुष्टि, गंगोरा गाँव से 22 मामले आए सामने, बना कंटेनमेंट जोन ।

 143 total views,  2 views today

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण का कहर तेजी से विकराल हो रहा है। हालात चिंताजनक होते जा रहे हैं। वही रानीखेत में भी हर रोज कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने लगे हैं।

आज 50 से अधिक लोग हुए कोरोना संक्रमित-

आज कोतवाल और अस्पताल के सर्जन सहित 50 से अधिक लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। वही अकेले गंगोड़ा गांव में ही एक साथ 22 मामले सामने आए हैं। जिससे क्षेत्र में दहशत का माहौल बना हुआ है। इसी गांव में कुछ दिन पूर्व राजस्थान से आई एक महिला की मौत हो गई थी।

26 अप्रैल को ग्राम गंगोड़ा में कोरोना संक्रमित पाए जाने पर 36 लोगों की हुई थी कोरोना जांच, जिसमें आज 22 लोग पाए गए कोरोना संक्रमित-

26 अप्रैल को ग्राम गंगोड़ा तहसील रानीखेत में कोरोना संक्रमित पाए जाने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा ग्राम गंगोडा में 36 लोगों की कोरोना जांच की गई, जिसमें आज दिनांक 1 मई को 22 व्यक्तियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है।

गंगोरा गाँव को बनाया गया कंटेनमेंट जोन-

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए गंगोड़ा को मिनी कंटेनमेंट जोन बना दिया गया है। जिसमें संयुक्त मजिस्ट्रेट अपूर्वा पांडेय ने बताया‌ कि गंगोड़ा गांव के भागरमाली बस्ती को मिनी कंटेनमेंट जोन बनाया जा रहा है। यहां 11 परिवार रहते हैं। कंटेनमेंट जोन में बाहर के व्यक्ति को अंदर बाहर आने जाने की अनुमति बिल्कुल नहीं  होगी। जिसमें ग्राम गंगोडा के भागरमाली बस्ती में निवासरत पूर्व में खेत, पश्चिम में ग्राम गंगोरा का रास्ता, उत्तर में खेत, व दक्षिण में खेत स्थित है ।

गांव में की गई खाद्यान्न की व्यवस्था-

संयुक्त मजिस्ट्रेट अपूर्वा ने बताया कि गांव में खाद्यान्न की व्यवस्था कर दी गई है। वही स्वास्थ्य कर्मी भी रोगियों पर नजर बनाए रखेंगे। संयुक्त मजिस्ट्रेट ने बताया माइक्रो कंटेनमेंट जोन में विभिन्न रास्तों में बैरिकेटिंग व निवासरत व्यक्तियों के लिए खाद्यान्न सामग्री व अन्य आवश्यक वस्तुओं हेतु बीडिओ ताडीखेत को व राजस्व उपनिरीक्षक मावड़ा को जिम्मेदारी दी गई है।

अस्पताल और कोतवाली में किया गया सैनिटाइजेशन-

कोरोना संक्रमण के मामलो के चलते अस्पताल और कोतवाली में सुबह से सैनिटाइजेशन का कार्य किया गया।

अस्पताल में काम करने भी हो रही है मुश्किल-

राजकीय अ‌स्पताल में दो वार्ड ब्वाय और डाक्टरों के  संक्रमित होने से परेशानियां बढ़ गई है। वही सीएमएस डा. केके पांडेय ने बताया कि बमुश्किल काम चलाया जा रहा है। सुबह अस्पताल में सेनिटाइजेशन का कार्य किया गया। हालांकि टीकाकरण और जांच का कार्य प्रभावित नहीं हुआ है। सबसे अधिक समस्या वार्ड ब्वाय की हो रही है।

बाहर राज्यों से आने वाले हर व्यक्ति पर रखी जा रही है नजर-

भुजान बैरियर पर स्वास्थ्य, राजस्व और पुलिस कर्मी नियमित ड्यूटी दे रहे हैं। बाहर राज्यों से आने वाले हर व्यक्ति पर नजर रखी जा रही है। आज भी 100 से अधिक लोगों की आरटीपीसीआर जांच की गई। जिनके पास रिपोर्ट नहीं है, उन्हें वापस भेजा जा रहा है।

व्यक्तियों की आवाजाही पर निगरानी रखने के लिए होमगार्ड की हुई तैनाती-

माइक्रो कंटेनमेंट जोन में बाहरी व्यक्तियों एवं निवास करने वाले व्यक्तियों की आवाजाही पर निगरानी रखने के लिए होमगार्ड की तैनाती की गई है। तथा उक्त व्यक्तियों के स्वास्थ्य निगरानी रखने एवं उपचार का दायित्व प्रभारी चिकित्सा अधिकारी ताड़ीखेत को दिया गया है।