October 19, 2021

उत्तराखंड टॉप 10 न्यूज़

 307 total views,  6 views today

० कोरोना के चलते 23 से 25 अप्रैल तक कार्यलय बंद के बाद सरकार ने जारी किये 26 से 28 तक शासकीय कार्यालय बंद करने के आदेश ।

० आज प्रदेश में कोरोना के 5084 केस आये जबकि 84 लोगो की कोरोना से मौत हुई अब प्रदेश मे कोरोना का आंकड़ा  1,47,433 हो गया है ।

० कल शाम  अल्मोड़ा थपालिया में बिजली के पोल पर गिरा पेड़ बिजली रही बांधित जब  विद्युत विभाग को सुचना देने पर वह आज सुबह मौके पर पहुंची लेकिन बिना जांच पड़ताल के कर्मचारियों द्वारा बिजली चालू कर दी गयी जिसके चलते आपस में दो तारों के चिपकने से घरों में बिद्युत उपकरण जल गए । बिजली विभाग की लापरवाही के चलते इससे लोगो भारी नुकसान हुआ ।

० आज मुख्यमंत्री द्वारा अस्पतालों को उपलब्ध कराई गई रेमडेसिविर की मात्रा और तय दर सार्वजनिक करने के निर्देश दिए हैं। आगामी 15 दिनों के अनुसार कोविड को लेकर प्लान हो और उसी के अनुरूप आॅक्सीजन, आईसीयू, जरूरी दवाएं आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

० कोरोना के बढ़ते प्रकोप के चलते मुख्यमंत्री द्वारा कहा गया कि प्रदेश में सभी जगह शराब की दुकान कर दी जाएंगी 2 बजे तक बंद ..

० प्रदेश में कोविड 19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री के आदेश पर राज्य के समस्त शिक्षण संस्थान बंद हैं, ऐसे में सिर्फ ट्यूशन फीस ही ली जा सकती है। शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम ने कहा कि कोई ओर फीस लेने की शिकायत मिलने पर स्कूलों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

० उत्तराखंड में भारत-चीन बॉर्डर से लगी चमोली जनपद के जोशीमठ में ग्लेशियर टूटने से मची अफरा तफरी ।

० उत्तराखंड के चमोली जिले में भारत-चीन सीमा से सटे इलाके में हुए हिमस्खलन में सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) के आठ कर्मियों की मौत हो गई जबकि सात कर्मी घायल हो गए  इसके अलावा 31 कर्मी लापता हैं ।

० उत्तराखंड सरकार ने राज्य के हजारों पेंशनर्स को बड़ी राहत देते हुए जीवन प्रमाण पत्र जमा करने की छूट दे दी है। 30 जून 2021 तक जीवन प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने की छूट प्रदान की गई है। वित्त विभाग के सचिव अमित नेगी ने यह आदेश किए हैं।

० बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच राहत की खबर आई है। उत्तराखंड सरकार को केंद्र से रेमडेसिविर के तीन हजार इंजेक्शन मिल गए हैं, जिन्हें शुक्रवार देर रात स्वास्थ्य विभाग ने औषधि नियंत्रक ताजबर जग्गी के नेतृत्व में सरकारी और निजी अस्पतालों तक पहुंचा दिया है। औषधि नियंत्रक ताजबर जग्गी ने बताया जल्द ही इंजेक्शन की नई खेप भी आने वाली है। इसे लेकर सरकार पूरी तरह से कोशिशः कर रही है। उन्होंने कहा कि अगर अब भी कोई अस्पताल रेमडेसिविर इंजेक्शन को लेकर परेशान करे तो उसकी शिकायत करें।