July 3, 2022

23-24 जून को चीन में 14 वां ब्रिक्स सम्मेलन, पीएम मोदी करेंगे प्रतिभाग

 1,819 total views,  2 views today

पीएम मोदी चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के निमंत्रण पर 23-24 जून को आयोजित 14वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में वर्चुअल प्रारूप में भाग लेंगे। इस शिखर सम्मेलन का आयोजन चीन द्वारा किया जा रहा है।

आज ब्रिक्स व्यापार मंच का उद्घाटन समारोह

इसमें 24 जून को अतिथि देशों के साथ वैश्विक घटनाक्रम पर एक उच्च स्तरीय वार्ता भी शामिल है। शिखर सम्मेलन से पहले प्रधानमंत्री 22 जून को ब्रिक्स व्यापार मंच के उद्घाटन समारोह में एक रिकॉर्डेड मुख्य भाषण के माध्यम से भाग लिया ।

किन विषयों पर होगी चर्चा ?

विदेश मंत्रालय के अनुसार 14वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के दौरान आतंकवाद, व्यापार, स्वास्थ्य, पारंपरिक चिकित्सा, पर्यावरण, विज्ञान-प्रौद्योगिकी व नवाचार, कृषि, तकनीकी-व्यावसायिक शिक्षा व प्रशिक्षण और एमएसएमई जैसे क्षेत्रों में इंट्रा-ब्रिक्स सहयोग पर चर्चा की उम्मीद है। इसमें बहुपक्षीय प्रणाली में सुधार, कोविड-19 महामारी का मुकाबला करने और वैश्विक आर्थिक सुधार जैसे मुद्दों पर भी चर्चा होने की संभावना है।

सभी विकासशील देशों के लिए विचार-विमर्श करने का एक मंच ‘BRICS’

उल्लेखनीय है कि ब्रिक्स सभी विकासशील देशों के लिए साझा चिंता के मुद्दों पर चर्चा और विचार-विमर्श करने का एक मंच बन गया है। ब्रिक्स देशों ने नियमित रूप से बहुपक्षीय प्रणाली में सुधार का आह्वान किया है ताकि इसे अधिक प्रतिनिधि और समावेशी बनाया जा सके।

कैसे बना BRICS ?

BRIC (ब्राजील, रूस, भारत और चीन) देशों के नेता जुलाई 2006 में जी8 आउटरीच शिखर सम्मेलन के दौरान पहली बार रूस के सेंट पीटर्सबर्ग में मिले। ब्रिक (BRIC) की पहली ब्रिक विदेश मंत्रियों की बैठक के दौरान, जो न्यूयॉर्क शहर में संयुक्त राष्ट्र विधानसभा की आम बहस के मौके पर हुई थी, इसके तुरंत बाद, सितंबर 2006 में, समूह को औपचारिक रूप दिया गया।

उच्च स्तरीय बैठकों की एक श्रृंखला के बाद, पहला ब्रिक शिखर सम्मेलन ’16 जून 2009′ को रूस के येकातेरिनबर्ग में आयोजित किया गया था। सितंबर 2010 में न्यूयॉर्क में BRIC विदेश मंत्रियों की बैठक में दक्षिण अफ्रीका को पूर्ण सदस्य के रूप में स्वीकार किए जाने के बाद BRIC समूह का नाम बदलकर BRICS (ब्राजील, रूस, भारत, चीन, दक्षिण अफ्रीका) कर दिया गया। तत्पश्चात 14 अप्रैल 2011 को चीन के सान्या में दक्षिण अफ्रीका ने तीसरे ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में भाग लिया।

BRICS देश वर्षों से वैश्विक आर्थिक विकास के मुख्य इंजन

BRICS दुनिया की प्रमुख उभरती अर्थव्यवस्थाओं को एक साथ लाने वाला एक महत्वपूर्ण समूह है, जिसमें दुनिया की 41% आबादी, विश्व जीडीपी का 24% और विश्व व्यापार में 16% से अधिक हिस्सेदारी है। ब्रिक्स देश वर्षों से वैश्विक आर्थिक विकास के मुख्य इंजन रहे हैं। समय के साथ, ब्रिक्स देश राजनीतिक और सुरक्षा, आर्थिक और वित्तीय और सांस्कृतिक और लोगों से लोगों के आदान-प्रदान के तीन स्तंभों के तहत महत्वपूर्ण मुद्दों पर विचार-विमर्श करने के लिए एक साथ आए हैं।