May 27, 2022

29 अगस्त राष्ट्रीय खेल दिवस: अपने खेल से संपूर्ण विश्व में भारत का नाम रोशन करने वाले मेजर ध्यानचंद की है आज जयंती

 3,224 total views,  2 views today

आज 29 अगस्त है। आज राष्ट्रीय खेल दिवस भी है। मेजर ध्यानचंद की जयंती को राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है। 29 अगस्त को हॉकी के जादूगर ध्यानचंद का जन्मदिन होता है।

आज मेजर ध्यानचंद की जयंती को राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है-

आज (29 अगस्त) ही के दिन 1905 में हॉकी के जादूगर कहे जाने वाले ध्यानचंद का जन्म हुआ था। उनके जन्मदिन को भारत के राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसी दिन हर साल खेल में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए खेल रत्न के अलावा अर्जुन और द्रोणाचार्य पुरस्कार दिए जाते हैं। भारत के सर्वोच्च खेल सम्मान खेल रत्न पुरस्कार का नाम अब राजीव गांधी खेल रत्न नहीं, बल्कि मेजर ध्यानचंद खेल रत्न होगा। ध्यानचंद की उपलब्धियों का सफर भारतीय खेल इतिहास को गौरवान्वित करता है। लगातार तीन ओलंपिक (1928 एम्सटर्डम, 1932 लॉस एंजेलिस और 1936 बर्लिन) में भारत को हॉकी का स्वर्ण पदक दिलाने वाले ध्यानचंद के जीवट का हर कोई कायल रहा। उन्होंने 16 साल की उम्र में भारतीय आर्मी ज्वाइन कर ली थी। ध्यानचंद 1922 में एक सैनिक के रूप में भारतीय सेना में शामिल हुए। वह शुरुआत से एक खिलाड़ी थे। उन्हें हॉकी खेलने के लिए सूबेदार मेजर तिवारी से प्रेरणा मिली, जो जो खुद एक खेल प्रेमी थे। ध्यानचंद ने उन्हीं की देखरेख में हॉकी खेलना शुरू किया। उनके खेल जीवन से जुड़ा एक यादगार वाकया भारतीय हॉकी को शिखर पर ले जाता है। उनका जादू दशकों भी बरकरार है और वह आज भी भारत के सबसे खेल आइकन में से एक हैं। सरकार ने ध्यानचंद को 1956 में देश के तीसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म भूषण से सम्मानित किया था। ध्यानचंद को सम्मान देने भारत सरकार ने 2012 में उनके जन्मदिन को राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया था। ध्यानचंद का निधन 3 दिसंबर 1979 को हुआ था।

भारत के प्रत्येक खेल को जन सामान्य का खेल बनाने के लिए ले संकल्प-

खेल हमारे जीवन का अहम हिस्सा है। खेल से लोग अपने देश का नाम दुनिया भर में रोशन कर रहे हैं। खेलों से जुड़े लोगों की भी अच्छी-खासी तादाद है। जो दुनिया भर में खुब नाम कमा रहे हैं। आज यानी रविवार को देश में राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जा रहा है। खेल के क्षेत्र में अपने देश के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए भारत सरकार ने सन 2018 से ‘खेलो इंडिया’ कार्यक्रम की शुरुआत की थी। राष्ट्रीय खेल दिवस’ पर हम सभी को भारत के प्रत्येक खेल को जन सामान्य का खेल बनाने के लिए संकल्प लेना होगा।