May 22, 2022

वायुसेना दिवस : अधिकारी जिन्होंने पैराशूटिंग और स्‍काई-डाइविंग में बनाये कीर्तिमान

 2,964 total views,  2 views today

भारतीय वायुसेना का स्थापना दिवस हर साल 8 अक्टूबर को मनाया जाता है। हम सभी जानते हैं कि वायुसेना भारतीय सशस्त्र सेना का वो अंग है जो हवा में युद्ध लड़ती है, हमारे एरियल बॉर्डर को सुरक्षित रखती है साथ ही हर वक्त चौकन्नी रहकर हमारे देश की रक्षा करती है। खास बात यह है कि भारतीय थल सेना को युद्धक सामग्री पहुंचाने का काम हो या फिर ह‍िमालय के ऊंचे पहाड़ों पर हथियारों की तैनाती हो, हर जगह वायुसेना की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण रहती है।

खैर हम बात करने जा रहे हैं वायुसेना के उन शूरूवीरों की, जिन्होंने अपने क्षेत्र में वो कर दिखाया, जो कोई न कर पाया। जी हां ये वो लोग हैं, जिन्‍होंने अपने हैरतअंगेज कारनामों से लिमका बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया है।

वैसे तो कई सैन्‍य अधिकारी हैं, जिनके नाम के आगे एक से एक कीर्तिमान हैं। हम यहां बात कर रहे हैं उन 9 अधिकारियों की जिन्‍होंने स्‍काई-डाइविंग और पैराशूटिंग में कीर्तिमान बनाये : 

*. एयर मार्शल वीके भाटिया, पहले भारतीय जिन्होंने 56 वर्ष की आयु में स्‍काई डाइविंग की। उन्‍होंने यह कीर्तिमान 17 सितम्बर 1999 को आगरा में एएन-32 एयरक्राफ्ट से कूद कर बनाया। 

* ग्रुप कैप्‍टन एनके पराशर, पहले पायलट हैं, जिन्‍होंने एक्‍स-एयर माइक्रोलाइट में 15 सितम्‍बर 2000 को उड़ान भरी उसी रात स्‍क्‍वाड्रन लीडर एमआईके रेड्डी ने एक्‍स-एयर माइक्रोलाइट से स्‍काई डाइविंग जम्‍प की। 
* स्‍क्‍वाड्रन लीडर संजय थापर वीएम पहले भारतीय हैं, जिन्‍होंने वायुसेना में टंडेम स्‍काई डाइविंग शुरू की। उन्‍होंने पैराशूटिंग में भी कई कीर्तिमान हासिल किए हैं। 

* स्‍क्‍वाड्रन लीडर जय शंकर 1990 से पैराशूटिंग में सक्रिय हैं। वो 602 बार पैराशूट जम्‍प कर चुके हैं।  

* स्‍क्वाड्रन लीडर एमआईके रेड्डी वॉटरस्‍पोर्ट्स में स्‍पेशिलिस्‍ट, पैरासेलिंग और स्‍काइडाइविंग में स्‍पेशियलिस्‍ट हैं। आप 780 बार स्‍काइडाइव‍िंग कर चुके हैं। 

* स्‍क्वाड्रन लीडर आरसी त्रिपाठी ने चार अप्रैल 2001 को पहली बार एक्‍स-एयर माइक्रोलाइट से स्‍काईडाइविंग की थी।  

* स्‍क्वाड्रन लीडर वसंत राज और फ्लाइट लेफ्टि‍नेंट भावना माने, दोनों हेलीकॉप्‍टर पायलट हैं, ये दोनों एयर-फोर्स के पहले कपल हैं, जिन्‍होंने एक साथ स्‍काई डाइविंग की। 

* फ्लाइट लेफ्टि‍नेंट कमल सिंह ओबेरह ने 1 जनवरी 2000 को साउथ पोल पर पैराशूट जम्‍प की थी। वो ऐसा करने वाले पहले भारतीय हैं।

* फ्लइट लेफ्टिनेंट केबी साम्याल और फ्लाइट लेफ्टिनेंट कोपल गुप्ता दोनों पति-पत्‍नी हैं। साम्‍याल अब तक 350 और कोपल 220 बार पैराशूट जम्‍प कर चुके हैं।