August 14, 2022

अल्मोड़ा: जिला सहकारी बैंक अल्मोड़ा बागेश्वर के 50वीं वार्षिक निकाय की हुई बैठक, बैंक द्वारा विगत 50 वर्षों में की गई तरक्की पर दी शुभकामनाएं, कही यह बातें

 3,008 total views,  5 views today


आज जिला सहकारी बैंक अल्मोड़ा बागेश्वर के 50वीं वार्षिक निकाय की बैठक विनायक उत्सव भवन में संचालित की गई। बैठक में बैंक द्वारा विगत 50 वर्षों में की गई तरक्की पर शुभकामनाएं दी गई। वही पिछले वित्तीय वर्ष की लेखा जोखा को बैंक के सम्मानित सदस्यों के सम्मुख रखा गया।

ऋण वितरित किया-

बैंक द्वारा दीनदयाल किसान योजना में 10419 सदस्यों को उन पंचायत सौ छप्पन लाख रुपए का ऋण वितरित किया गया वही 14 समूह को 45 लाख रुपए ऋण के रूप में दिए गए बैंक द्वारा 10182.37 रुपए दीनदयाल योजना के अंतर्गत दिया गया है अल्मोड़ा जिला सहकारी बैंक के सक्रिय खातेदार किसी ना किसी डिजिटल सुविधा से जुड़े हैं मार्च 2021 तक बैंक का कुल लाभ 616.86 रहा।

देश के सबसे मजबूत नेता अमित शाह खुद जिस विभाग को संभाल रहे हैं वह विभाग है सहकारिता-

आज की वार्षिक निकाय बैठक के मुख्य अतिथि अल्मोड़ा पिथौरागढ़ के सांसद पूर्व केंद्रीय मंत्री अजय टम्टा रहे। उन्होंने बैंक प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा कि देश के सबसे मजबूत नेता अमित शाह खुद जिस विभाग को संभाल रहे हैं वह विभाग सहकारिता है और अगर गृह मंत्री के पास यह विभाग है तो निश्चित रूप से इस विभाग की विशेषता स्वतः बढ़ जाती है। उन्होंने कहा कि सहकारिता विभाग के माध्यम से देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर किसी तक पहुंचने का प्रयास कर रहे हैं और उसी को अल्मोड़ा जिला सहकारी बैंक भी निरंतर रूप से आगे बढ़ा रहा है कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि श्री रघुनाथ सिंह चौहान विधायक अल्मोड़ा ने कहा सहकारिता विभाग आज उत्तराखंड की रीढ़ है इस विभाग से राज्य की सरकार हर किसी का पहुंचने का प्रयास कर रही है और गरीब किसान और निर्धनों तक कई योजनाओं के माध्यम से धन उपलब्ध करा कर उन्हें स्वावलंबी बना रही है जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष ललित लटवाल ने पिछले वर्ष की बैंक की प्रगति को आमजन के सामने रखा व वह कहा कि जब से वह इस बैंक के अध्यक्ष बने हैं उनका प्रयास निरंतर बैंक को आगे बढ़ाने का रहा है। 2018 में जब उन्होंने बैंक में अध्यक्ष के रूप में कार्यकाल प्रारंभ किया उस समय बैंक का को लाभ 485 लाख था। जोकि ईश्वर से बढ़कर 616 लाख हो गया है। बैंक को निरंतर आगे बढ़ाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। लगातार बैंक डिजिटल सेवा से जुड़े इसके लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं।

सहकारिता के माध्यम से दीनदयाल के सपने को पूर्ण करने का प्रयास अमित शाह द्वारा किए जा रहे हैं-

इस अवसर पर ललित लटवाल ने कहा कि ये हर उस व्यक्ति के लिए गर्व का मौका है जो व्यक्ति किसी ना किसी रूप से सहकारिता से जुड़ा है क्योंकि इस विभाग को नरेंद्र मोदी के सबसे मजबूत मंत्री अमित शाह जी के पास दिया गया है और सहकारिता के माध्यम से दीनदयाल के सपने को पूर्ण करने का प्रयास अमित शाह द्वारा किए जा रहे हैं। समाज के अंतिम व्यक्ति तक सरकार की योजनाएं पहुंचे इसके लिए सरकार द्वारा सहकारी बैंक को जिम्मेदारी दी है जिसमें व्यक्तियों को बिना ब्याज का ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। सरकार सहकार से विकास की ओर बढ़ रही है और अनेक रोजगार परियोजनाएं सहकारी बैंक के माध्यम से संचालित कर रही है।

सरकार कई योजनाएं इन बैंकों के माध्यम से होती है संचालित-

राज्य सहकारी बैंक के प्रदेश अध्यक्ष दान सिंह रावत ने कहा कि सहकारिता सरकार की समाज को साथ देने एक ऐसी योजना है जिसमें सरकार की हरनीति को आसानी से जनता के सम्मुख रखा जाता है और सरकार कई योजनाएं इन बैंकों के माध्यम से संचालित कर रही है और सरकार को यह भी सोचना होगा कि वह अपने धन संचय की जगह सहकारी बैंक को कोही बनाए क्योंकि वर्तमान में कई डिपाजिट अन्य बैंकों को दिए जा रहे हैं जिससे ग्रामीण क्षेत्र में कार्य करने वाले इस बैंक को नुकसान हो रहा है भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष रवि रौतेला ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार सहकारिता के माध्यम से आमजन को हर सुविधा उपलब्ध करा रही है और निश्चित रूप से आगामी समय में भी इस कार्य को आगे बढ़ाया जाएगा कार्यक्रम के समापन पर जिला सहकारी बैंक के उपाध्यक्ष विक्रम सिंह साही की माताजी के निधन पर शोक व्यक्त किया गया।

यह लोग रहे उपस्थित-

बैठक में हिरदेश मेहरा विनीत बिष्ट घनश्याम जोशी रघुवर सिंह गोविंद सिंह गणेश नायक मोहन चौहान महेंद्र रावत मधुबाला कमला बहुगुणा पुष्पा बिष्ट अनिला पंथ रमेश बहुगुणा जिला सहकारी बैंक के सचिव महाप्रबंधक नरेश चंद्र महेश नयाल दीपक वर्मा दीप्ति सोनकर मनोज जोशी सौरभ वर्मा भूपेन कांडपाल आशीष वर्मा गोविंद पिलख्वाल कृष्ण बहादुर देवेंद्र सिंह सत्यपाल कैलाश गुरुरानी, पान सिंह मावड़ी ललित मेहता आदि अनेक लोग उपस्थित रहे।