December 8, 2021

अल्मोड़ा: विस उपाध्यक्ष रघुनाथ सिहं चौहान ने रैमजे इण्टर कालेज में आयोजित अमृत महोत्सव कार्यक्रम का किया शुभारम्भ, हुए सांस्कृतिक कार्यक्रम

 1,948 total views,  2 views today

स्वतन्त्रता की 75वीं वर्षगॉठ में आजादी के महान सपूतों को नमन करने व भावी पीढ़ी को स्वतन्त्रता की महत्ता का आभास कराने हेतु देशभर में आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। यह कार्यक्रम आगामी वर्ष 2022 तक आयोजित किया जायेगा। इस अवसर पर विधानसभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिहं चौहान ने रैमजे इण्टर कालेज में आयोजित अमृत महोत्सव कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप प्रज्जवलित कर किया।

अल्मोड़ा के अनेकों स्वतन्त्रता संग्राम सेनानियों ने स्वतन्त्रता के लिए सही अनेकों यातनायें-

इस अवसर पर  उपाध्यक्ष ने कहा कि हमें आजादी विरासत में नहीं मिली है। अनेकों कुर्बानी, शहादतों के बदले हमें यह आजादी मिली है। उन्होंने कहा कि इन शहादतों में अल्मोड़ा जनपद के रणबांकुरों का भी अतुनीय योगदान रहा है। जनपद अल्मोड़ा के अनेकों स्वतन्त्रता संग्राम सेनानियों ने स्वतन्त्रता के लिए अनेकों यातनायें सही तथा कई बार जेलों में बन्द रहे ऐसे शौर्यवीरों के रक्त से भारत की भूमि को सीच कर ही हमें आजादी मिली है। मा0 उपाध्यक्ष ने कहा अमृत महोत्सव मनाये जाने का मुख्य उद्देश्य भावी पीढ़ी को स्वतन्त्रता के महान सपूतों की कुर्बानी का ज्ञानार्जन कर राष्ट्र के प्रति राष्ट्रभक्त पैदा करना है। उन्होंने कहा कि इस स्वतन्त्रता आन्दोलन में पुरूष ही नहीं बल्कि महिलाओं ने भी कुर्बानी देने में आपने आप को पीछे नहीं छोड़ा था। इस महोत्सव के माध्यम से उन वीरांगनाओं, मातृशक्ति को नमन करने व उनकी वीरगाथा का बखान कर भावी पीढ़ी को आजादी का महत्व बताना तथा राष्ट्रभक्तों में जागरूकता पैदा करना है।
                          
सांस्कृतिक संस्था द्वारा नुक्कड़ नाटक के माध्यम से कार्यक्रम हुए प्रदर्शित-

इस अवसर पर विहान सांस्कृतिक संस्था द्वारा नुक्कड़ नाटक के माध्यम से अल्मोड़ा के स्वतन्त्रता संग्राम सेनानियों की गाथाओं, अंग्रेजों द्वारा दी गयी यातनाओं को नाटक के माध्यम से प्रदर्शित कर दर्शकों को भावविभोर कर दिया। विहान संस्था द्वारा 1930 में सल्ट का नमक कानून, 1930 में नगरपालिका बोर्ड अल्मोड़ा का सत्याग्रह, 1942 में चनौदा आश्रम में महात्मा गॉधी का सत्याग्रह आन्दोलन, 1921 में सरयू-बगड़ में कुली बेगार प्रथा के मार्मिक व भावुक दृश्यों का प्रदर्शन कर दर्शकों को भावविभोर कर दिया। नाट्क के प्रदर्शन से अभिभूत होकर मा0 उपाध्यक्ष ने विहान सांस्कृतिक संस्था के प्रत्येक कलाकार को दो हजार रूपये दिये।

छात्रों द्वारा जीवन गाथाओं का व्याख्यान तथा देशभक्ति के गीतों को किया गया प्रस्तुत-

इस कार्यक्रम में नाटक के दृश्यों को देखकर उपाध्यक्ष ने प्रत्येक स्वतन्त्रता संग्राम सेनानियों के गांवों में इस नाटक का प्रदर्शन करने के निर्देश प्रभारी पुरातत्व अधिकारी को दिये जिससे भावी पीढ़ी इससे प्रेरणा लेकर राष्ट्रहित, राष्ट्रभक्ति की ओर अग्रसर हो सके। इससे पूर्व विवेकानन्द विद्या मन्दिर अल्मोड़ा की छात्राओं तथा रैमजे इण्टर कालेज के छात्रों द्वारा अल्मोड़ा जनपद के स्वतन्त्रा संग्राम सेनानी गोविन्द बल्लभ पंत, हर गोविन्द पंत, विक्टर मोहन जोशी, देवीदत्त पंत, दुर्गा सिंह, बद्रीदत्त पाण्डे सहित अन्य के जीवन गाथाओं का व्याख्यान तथा देशभक्ति के गीतों को प्रस्तुत किया गया।

इस अवसर पर यह लोग रहे उपस्थित-

इस अवसर पर नगर अध्यक्ष भाजपा कैलाश गुरूरानी, पूर्व दर्जा राज्यमंत्री गोविन्द सिंह पिलख्वाल, गिरीश मल्होत्रा, मुख्य शिक्षाधिकारी एच0बी0 चन्द, प्रभारी पुरातत्व अधिकारी चन्द्र सिहं चौहान, रैमजे इण्टर कालेज के प्रधानाचार्य वी0टी0 विल्सन, दीप्ति रावत, सुजाता शर्मा, इंदु बिनवाल सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।