October 26, 2021

जिलाधिकारी ने मल्ला महल में चल रहे पुर्ननिर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए समय से कार्य पूर्ण करने के दिए निर्देश

 3,277 total views,  2 views today

जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने आज एनआईसी कक्ष में ऐतिहासिक कलैक्ट्रेट (मल्ला महल) में चल रहे पुर्ननिर्माण कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान जिलाधिकारी ने अल्मोड़ा फोर्ट टैण्डर प्रक्रिया, मिनी थियेटर, पुतलों के रख-रखाव, विद्युत, सी0सी0 टीवी पर किये जाने वाले कार्यों पर विस्तृत चर्चा की

समय से पूर्व कार्य किये जाने के निर्देश दिए

उन्होंने कहा कि अल्मोड़ा मल्ला महल में जो भी किये जाने है उन्हें पूर्ण गुणवत्ता के साथ समय से पूर्ण किया जाय। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास होना चाहिए कि इस मल्ला महल को और अधिक आकर्षक बनाया जाय ताकि अधिक से अधिक लोग इसको देखने आ सकें। जिलाधिकारी ने कहा कि इसमें बनने वाली गैलरी में किन-किन चीजो को कहा पर रखा जाना है इसके लिए समिति के सदस्य आपसी समन्वय बनाते हुए इस पर एक ठोस कार्य योजना बना लें।
                                             

संस्कृति को बढ़ावा दिया जाए

बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि यहाॅ की सांस्कृतिक को और अधिक बढ़ावा दिया जाय। उन्होंने कहा कि जिसमें जागेश्वर धाम, कटारमल, चितई, कसारदेवी सहित अन्य स्थानों को भी यहाॅ पर प्रदर्शित किया जाय। जिलाधिकारी ने कहा कि इस निर्माण हेतु जो भी सामान क्रय किया जाय उसको अभिलेख में धारित करते हुए उसका रख-रखाव किया जाय। उन्होंने कहा कि अल्मोड़ा फोर्ट में एन्टिक सामान के दानकर्ताओं की अलग से सूची बनायी जाय ताकि लोगो को इन वस्तुओं के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके।
               
इन विषयों पर हुई चर्चा                             

जिलाधिकारी ने कहा कि मल्ला महल में लगाये जाने वाले साईनएज और लोगो को तत्काल अपूर्व  कराकर अन्तिम रूप देते हुये कार्य प्रारम्भ कर दें। उन्होंने सभी अधिकारियों से कहा कि यह सुनिश्चित किया जाय कि कार्य योजना के अनुसार सभी कार्य पूर्ण किये जाय। इस समीक्षा बैठक में ओपन एयर थियेटर, रानी महल में बने रही फोटो गैलरी, सोलह संस्कार, नन्दादेवी स्टोरी, साउण्ड एण्ड लाईट शो, ऐपण एवं अल्मोड़ा अर्बन कल्चर के बारे में विस्तृत चर्चा की गयी।

यह लोग रहे मौजूद

बैठक में पर्यटन विकास अधिकारी राहुल चैबे, आपदा प्रबन्धन अधिकारी राकेश जोशी, क्षेत्रीय पुरातत्व अधिकारी चन्द्र सिंह चैहान, समिति के सदस्य जयमित्र बिष्ट, प्रभात गंगोला, पवन बिष्ट, मुक्ति दत्ता आदि उपस्थित थे।