October 26, 2021

बागेश्वर: जिलाधिकारी ने अधिकारियों एवं बैंकर्स के साथ ली बैठक, कहा बेरोजगार युवाओं को स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए दिया जाए ऋण

 5,683 total views,  4 views today

आज जिलाधिकारी विनीत कुमार की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में संबंधित अधिकारियों एवं बैंकर्स के साथ महत्वपूर्ण बैठक आयोजित हुई। यह बैठक भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा बेरोजगार युवाओं को स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, मुख्यमंत्री सौर स्वरोजगार योजना, वीर चन्द्र सिंह गढवाली, पंडित दीनदयाल उपाध्याय गृह आवास योजना तथा एनआरएलएम आदि योजनाओं के संचालित होने के संबंध में आयोजित हुई।

इन योजनओ से पात्र व्यक्तियों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए बैंको से समय से ऋण उपलब्ध हो-

इस बैठक में जिलाधिकारी ने स्वरोजगार से जुडे विभागों को निर्देश दिये कि उनके अधीन जो भी रोजगारपरक योजनायें संचालित हो रही हैं, ऐसी योजनाओं से पात्र व्यक्तियो को लाभ पहुंचाने के लिए सभी प्राप्त आवेदन पत्रों पर प्राथमिकता के साथ आवश्यक कार्यवाही करते हुए ऋण उपलब्ध कराने के लिए बैंको को उपलब्ध कराये जाय। उन्होंने सभी बैंकर्स से कहा कि स्वरोजगार के लिए जो भी आवेदन पत्र संबंधित विभागों द्वारा ऋण उपलब्ध कराये जाने हेतु प्रेशित किये जा रहें है उन आवेदन पत्रों को शीर्ष प्राथमिकता के साथ 15 दिन के अंदर स्वीकृत करना सुनिश्चित करें।

जिलाधिकारी ने यह भी दिए निर्देश-

जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दियें कि यदि किसी आवेदन पत्र मे किसी प्रकार की कोई कमी पायी जाती है या ऋण स्वीकृत किया जाना संभव नहीं है, तो इस संबंध में संबंधित आवेदनकर्ता सहित संबंधित विभाग को भी इसकी जानकारी उपलब्ध करायी जाय। उन्होने कहा कि जो भी रोजगारपरक योजनाओं के आवेदन पत्र प्राप्त होते है, उनमें आपसी समन्वय के साथ आवष्यक कार्यवाही करते हुए आवेदक को ऋण उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें, ताकि वह अपना व्यवसाय जल्द से जल्द शुरू कर सके। उन्होने संबंधित विभागो एवं बैकर्स को यह भी निर्देश दिये कि उन्हें जो भी लक्ष्य मिला हैं, उस लक्ष्य को 31 दिसंबर, 2021 तक अनिवार्य रूप से प्राप्त करते हुए आवेदन कर्ताओं को रोजगार उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें, इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही एवं ढिलाई न बरती जाय।

यह भी किया जाए सुनिश्चित-

जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि यदि कोई बैंक ऋण उपलब्ध कराने के लिए गाईडलाइन के अंदर नही आ रहे है, तो ऐसे बैंको से आवेदनकर्ताओं के आवेदन दूसरे बैंको को प्रेषित किये जाय, साथ ही यह सुनिश्चित किया जाय कि किसी भी आवेदन कर्ता को औपचारिकतायें पूर्ण करने के लिए अनावश्यक रूप से परेशान न किया जाय।

95 का लक्ष्य के सापेक्ष 91 आवेदन पत्र बैंको को प्रेषित किए-

बैठक में महाप्रबंधक उद्योग जीपी दुर्गापाल ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि प्रधानमंत्री स्वरोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत 95 का लक्ष्य के सापेक्ष 91 आवेदन पत्र बैंको को प्रेषित किये गये हैं, जिसमें 20 आवेदन पत्र स्वीकृत किये गये है तथा 17 को ऋण वितरित किया गया हैं, तथा 59 आवेदन विभिन्न बैंको में लंबित हैं, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत 200 लक्ष्य के सापेक्ष 27 आवदेन पत्र स्वीकृत किये गये है, 20 लाभार्थियों को ऋण उपलब्ध कराया गया है तथा 80 आवेदन पत्र बैंको में लंबित है। प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अंतर्गत 144 लक्ष्य के सापेक्ष 81 आवेदन पत्र बैंको को प्रेशित किये गये है, 58 आवेदन पत्र स्वीकृत किये गये है, दो आवेदन पत्र लंबित व 21 आवेदन पत्र निरस्त किये गये हैं। एनआरएलएम के तहत 171 लक्ष्य के सापेक्ष 103 आवेदन बैंको को प्रेशित किये गये हैं, 13 को ऋण स्वीकृत किया गया है तथा 151 आवेदन पत्र बैंको में लंबित है।

इस दौरान यह लोग रहे मौजूद-

इस दौरान बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डीडी पंत, परियोजना निदेशके शिल्पी पंत, लीड बैंक अधिकारी एनआर जौहरी, परियोजना अधिकारी राॅकी कुमार, ग्रामोद्योग अधिकारी केएस कम्र्याल, सहायक निदेशक डेयरी निर्भय नारायण सिंह, अधि0अभि0 विद्युत भास्कर पांडे, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डाॅ0 उदय शंकर, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका राजदेव जायसी, सहित बैंको के प्रबंधक मौजूद रहे।