December 5, 2021

“भारतीय संसद में भगत सिंह कोश्यारी” पर परिचर्चा का आयोजन

 2,105 total views,  2 views today

राजपुर रोड स्थित होटल में महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी के लोकसभा व राज्यसभा में दिए गए भाषणों एवं याचिका समिति के अध्यक्ष के रूप में लिए गए निर्णयों पर आधारित पुस्तक “भारतीय संसद में भगत सिंह कोश्यारी” पर परिचर्चा का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री धामी बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए, जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार लीलाधर जगूड़ी ने की। परिचर्चा में वक्ताओं ने राज्यपाल श्री कोश्यारी द्वारा उठाए गए जनहित एवं राष्ट्रहित से संबंधित मुद्दों की सराहना की।

राष्ट्र के स्वाभिमान, गौरव एवं राष्ट्रीय अस्मिता को बचाना हम सबका दायित्व

वक्ताओं ने श्री कोश्यारी के ‘‘वन रैंक वन पेंशन’’ की भूमिका तैयार करने के प्रयासों की भी सराहना की। उन्हें सर्वधर्म समभाव, राष्ट्रभक्त एवं राष्ट्रभाषा का समर्थक भी बताया। राज्यपाल श्री कोश्यारी ने कहा कि राष्ट्र के स्वाभिमान, गौरव एवं राष्ट्रीय अस्मिता को बचाने का दायित्व हम सबका है। इसमें हमारे सांसदों एवं विधायकों की विशेष जिम्मेदारी है। उन्होंने हाल में उत्तराखण्ड विधानसभा में हुई स्वस्थ परिचर्चा को जनता के बेहतर हित में बताया।

कोश्यारी के जीवन दर्शन के अनेक अनछुए पहलू समाज के सामने लाये गये

मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि, प्रकाशित पुस्तक के माध्यम से श्री कोश्यारी के जीवन दर्शन के अनेक अनछुए पहलू समाज के सामने लाये गये हैं। यह पुस्तक उनके विशाल व्यक्तित्व का भी विश्लेषण करती है। उन्होंने सामान्य परिवेश में रहकर शिखर छूने का कार्य किया है” , उन्होंने यह भी कहा कि कहा कि श्री कोश्यारी सभी नीतिगत विषयों के जानकार, दृढ निश्चय वाले व्यक्ति रहे हैं। उनका जीवन हम सबके लिये निश्चित रूप में अनुकरणीय एवं प्रेरणादायी है।