August 14, 2022

कांग्रेस जिलाध्यक्ष पितांबर पांडे के नेतृत्व में जिला कांग्रेस अल्मोड़ा ने महामहिम को भेजा ज्ञापन

 2,478 total views,  2 views today

अल्मोड़ा के कांंग्रेसजनों ने जिला कांंग्रेस कमेटी के तत्वावधान में जिलाध्यक्ष पीताम्बर पाण्डेय के नेतृत्व में आज महामहिम राष्ट्रपति को जिलाधिकारी के माध्यम से ज्ञापन प्रेषित कर प्रतिदिन एक करोड़ वैक्सीनेशन सुनिश्चित करने व भारत के हर नागरिक को यूनिवर्सल मुफ्त वैक्सीनेशन दिलवाने की मांग की।महामहिम को प्रेषित ज्ञापन में कांंग्रेसजनों ने कहा कि कोविड 19 ने लगभग हर भारतीय परिवार को अप्रत्याशित तबाही एवं असीम पीड़ा दी है।दुख की बात है कि मोदी सरकार ने कोरोना से लड़ने की अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लिया है और लोगों को उनके हाल पर छोड़ दिया है। सच्चाई यह है कि केंद्र की भाजपा सरकार कोविड 19 के अपराधिक कुप्रबंधन की दोषी है।उग्र कोविड 19 महामारी के बीच वैक्सीनेशन ही एकमात्र सुरक्षा है।मोदी सरकार की वैक्सीनेशन की रणनीति भारी भूलों की एक खतरनाक कॉकटेल है।

भाजपा सरकार निंदनीय रूप से वैक्सीन की खरीद से बेखबर रही

भाजपा सरकार ने वैक्सीनेशन की योजना बनाने का अपना कर्तव्य ही भुला दिया।भाजपा सरकार निंदनीय रूप से वैक्सीन की खरीद से बेखबर रही।केंद्र सरकार ने जानबूझकर एक डिजिटल डिवाईड पैदा किया,जिससे वैक्सीनेशन की प्रक्रिया धीमी हो गई। ज्ञापन के माध्यम से कहा गया कि केंद्र सरकार ने विभिन्न कीमतों के स्लैब बनाने में जानबूझकर मिलीभगत की। यानि एक ही वैक्सीन के लिए अलग अलग कीमतें तय की ताकि आम आदमी से आपदा में लूट की जा सके।
कांंग्रेसजनों ने कहा कि जहां अन्य देशों ने मई 2020 से वैक्सीन खरीदने के ऑर्डर देने शुरू कर दिए थे,वहीं मोदी सरकार ने भारत को इसमें विफल कर दिया।केंद्र सरकार ने वैक्सीन का पहला ऑर्डर जनवरी 2021 में जाकर दिया।जन पटल पर मौजूद जानकारी के अनुसार मोदी सरकार एवम् राज्य सरकारों ने 140 करोड़ की जनसंख्या के लिए आज तक केवल 39 करोड़ वैक्सीन खुराकों का ऑर्डर दिया है।

31 मई तक केवल 21.31 करोड़ लोगों को लगी वैक्सीन

भारत सरकार के अनुसार 31 मई 2021 तक केवल 21.31 करोड़ वैक्सीन ही लगाई गई हैं।लेकिन वैक्सीन की दोनों खुराकें केवल 4.45 करोड़ भारतीयों को ही मिली हैं,जो भारत की आबादी का केवल 3.17 प्रतिशत है।पिछले 134 दिनों में वैक्सीनेशन की औसत गति लगभग 16 लाख खुराक प्रतिदिन है।इस गति से देश की पूरी व्यस्क जनसंख्या को वैक्सीन लगाने में तीन साल से ज्यादा समय लग जाएगा।यदि ऐसे ही चलता रहा तो हम देश के नागरिकों को कोरोना की तीसरी लहर से कैसे बचा पाएंगे इस सवाल का जवाब मोदी सरकार को देना होगा।

मोदी सरकार वैक्सीन का निर्यात करने में व्यस्त है

ज्ञापन के माध्यम से कहा गया कि इस विकराल महामारी के बीच हमारे देश के नागरिक कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं, लेकिन मोदी सरकार वैक्सीन का निर्यात करने में व्यस्त है।केंद्र की भाजपा सरकार आज तक वैक्सीन की 6.63 खुराक दूसरे देशों को निर्यात कर चुकी है।यह देश के लिए सबसे बड़ा नुकसान है।मोदी सरकार द्वारा वैक्सीन के लिए तय की गई अलग अलग कीमतें लोगों की पीड़ा से मुनाफाखोरी का एक और उदाहरण हैं।
सीरम इंस्टीट्यूट की कोवीशील्ड की एक खुराक की कीमत मोदी सरकार के लिए 150 रुये,राज्य सरकारों के लिए 300 रूपये और निजी अस्पतालों के लिए 600 रुपयेहै। भारत बायोटेक की कोवैक्सीन की एक खुराक की कीमत मोदी सरकार के लिए 150 रुपये, शराज्य सरकारों के लिए 600 रुपये और निजी अस्पतालों के लिए 1200 रुपये है।निजी अस्पताल एक खुराक के लिए 1500 रुपये तक वसूल रहे हैं।दो खुराकों की पूरी कीमत की गणना इसी के अनुसार होगी।मोदी सरकार द्वारा एक ही वैक्सीन की तीन अलग अलग कीमतें तय करना लोगों की पीड़ा से मुनाफाखोरी कमाने का नुस्खा है।


ज्ञापन के माध्यम से  राष्ट्रपति जी से निवेदन किया गया कि आप …

केंद्र सरकार वैक्सीन खरीदे और राज्यों एवं निजी अस्पतालों को निशुल्क वितरित करे ताकि वह भारत के नागरिकों को मुफ्त लगाई जा सके।इससे कम कोई भी काम भारत एवं भारत के नागरिकों का बड़ा नुकसान है।साथ ही हमें 31 दिसंबर 2021 तक या उससे पहले 18 साल से अधिक आयु की पूरी वयस्क जनसंख्या को वैक्सीन लगाने का काम पूरा करने की जरूरत है।देश के नागरिकों का बचाव करने का यही एकमात्र रास्ता है।इसका एकमात्र उपाय है कि एक दिन में कम से कम एक करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाई जाए न कि एक दिन में औसतन 16 लाख लोगों को।ज्ञापन के माध्यम से  राष्ट्रपति जी से निवेदन किया गया कि आप मोदी सरकार को दिन में एक करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाए जाने एवं यूनिवर्सल मुफ्त वैक्सीनेशन का निर्देश दें।कोविड 19 महामारी से लड़ाई एवं इस बीमारी को हराए जाने का यही एकमात्र रास्ता है।हर भारतीय को कोरोना से जीत दिलाने का भी यही एकमात्र रास्ता है।

ज्ञापन देने वालों में इतने लोग रहे मौजूद

ज्ञापन देने वालों में जिलाध्यक्ष पीताम्बर पाण्डेय,महिला जिलाध्यक्ष लता तिवारी,वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष तारा चन्द्र जोशी,यूथ कांंग्रेस जिलाध्यक्ष निर्मल रावत,जिला प्रवक्ता राजीव कर्नाटक,जिला सचिव दीपांशु पाण्डेय,सेवादल ध्वजप्रभारी संजय दुर्गापाल,जिला उपाध्यक्ष विनोद वैष्णव,यूथ प्रदेश प्रवक्ता वैभव पाण्डेय,महिला नगर अध्यक्ष गोपा नयाल,राबिन मनोज भण्डारी,जिला महामंत्री राधा बिष्ट, जिला महासचिव गीता मेहरा,के एस भण्डारी, एडवोकेट महेश चन्द्र, कुन्दन लटवाल आदि उपस्थित रहे।