December 4, 2022

पिछले वर्ष के मुकाबले मई 2021 में भारत के निर्यात में हुई 67% की वृद्धि, जाने किन वस्तुओं का हुआ सबसे अधिक निर्यात

 1,676 total views,  4 views today

महामारी के बीच भारत के लिए राहत की खबर आई है। इस महामारी में भी भारत ने अपने निर्यात में 2020 और 2019 के मुकाबले वृद्धि दर्ज की है। वाणिज्य सचिव डॉ. अनूप वधावन ने कहा कि भारत का निर्यात प्रदर्शन प्रभावशाली बना हुआ है। मई 2021 में व्यापारिक निर्यात के अनंतिम(अंतिम नहीं, बदलाव हो सकता है) आंकड़ों में मई 2020 की तुलना में 67.39% और मई 2019 की तुलना में 7.93% की महत्वपूर्ण वृद्धि देखी गई है।

मई 2020 की तुलना में 6.44% की वृद्धि

मई 2021 में अनुमानित सेवा निर्यात 17.85 बिलियन अमरीकी डॉलर रहा, जिसमें मई 2020 की तुलना में 6.44% की सकारात्मक वृद्धि दर्ज हुई है। मई 2020 की तुलना में, मई 2021 में सेवाओं के आयात का अनुमानित मूल्य 0.30% की सकारात्मक वृद्धि दर्ज करते हुए 9.97 बिलियन अमरीकी डॉलर रहा।

इन वस्तुओं के निर्यात में हुई वृद्धि

जिन वस्तुओं ने मई 2021 और मई 2020 के दौरान सकारात्मक वृद्धि दर्ज की है, वे निम्नानुसार हैं, अनाज (823.83%), जूट एमएफजी, फ्लोर कवरिंग समेत (255.77%), पेट्रोलियम उत्पाद (199.85%), हस्तशिल्प, हस्तनिर्मित कालीन समेत (192.05%), रत्न और आभूषण (179.16%), चमड़ा और चमड़ा निर्माता (155.06%), मानव निर्मित यार्न/फैब्रिक/मेड-अप आदि (146.35%), मांस, डेयरी और पोल्ट्री उत्पाद (146.19%), सूती धागे/फैब्रिक/मेड-अप, हथकरघा उत्पाद आदि (137.92%), सभी वस्त्रों का आरएमजी (114.15%), कालीन (107.97%), इलेक्ट्रॉनिक सामान (90.8%), सिरेमिक उत्पाद और कांच के बने पदार्थ (81.39%), अभ्रक, कोयला और अन्य अयस्क, प्रसंस्कृत खनिजों सहित खनिज (74.95%), भुना अनाज और विविध प्रसंस्कृत वस्तुएं (53.66%), इंजीनियरिंग सामान (53.14%), काजू (38.4%), समुद्री उत्पाद (33.59%), लौह अयस्क (25.68%), प्लास्टिक और लिनोलियम (20.44%), कार्बनिक और अकार्बनिक रसायन (20.11%), तंबाकू (15.06%), चावल (12.22%), तिलहन की खली (8.28%), मसाले (1.37%) और कॉफी (1.07%)।

रत्न और आभूषण को छोड़कर, सभी का निर्यात बढ़ा

वाणिज्य सचिव डॉ. अनूप वधावन ने बताया कि पीओएल और रत्न और आभूषण को छोड़कर व्यापारिक वस्तुओं के निर्यात के क्षेत्र में मई 2021 में 2020-21 की समान अवधि के मुकाबले 45.96% और 2019-20 की समान अवधि के मुकाबले 11.51% की वृद्धि दर्ज हुई है। मई 2021 के दौरान, पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में, व्यापारिक वस्तुओं के आयात में 68.54% की सकारात्मक वृद्धि दर्ज की गई। वहीं मई 2019 की तुलना में मई 2021 के दौरान आयात में 17.47 प्रतिशत की गिरावट आई है।

वस्तुएं, जिनका निर्यात लगातार बढ़ा

लौह अयस्क का निर्यात 2020-2021 के दौरान और 2021-22 के पहले दो महीनों में लगातार बढ़ा है। चावल का निर्यात 2020-2021 के दौरान अप्रैल 2020 के महीने को छोड़कर लगातार बढ़ रहा है। भुने अनाज और विविध प्रसंस्कृत वस्तुएं, अन्य अनाज और तिलहन की खली का निर्यात जून 2020 से लगातार बढ़ रहा है। फ्लोर कवरिंग सहित जूट एमएफजी और कालीन का निर्यात जुलाई 2020 से लगातार बढ़ रहा है। हस्तशिल्प, हस्तनिर्मित कालीन, सूती धागे/फैब्रिक/मेड-अप, हथकरघा उत्पाद आदि, सिरेमिक उत्पाद और कांच के बने पदार्थ, मसाले और ‘अन्य’ श्रेणियों का निर्यात सितंबर 2020 से लगातार बढ़ रहा है। अभ्रक, कोयला और अन्य अयस्क, प्रसंस्कृत खनिजों सहित खनिज निर्यात अक्टूबर 2020 से लगातार बढ़ रहा है।चमड़ा और चमड़े के उत्पाद, मानव निर्मित यार्न/फैब्रिक/मेड-अप आदि और समुद्री उत्पाद जैसे क्षेत्रों में, जो महामारी (2020-2021) के दौरान नकारात्मक वृद्धि का प्रदर्शन कर रहे थे, मार्च 2021 से इन में भी तेजी आई है।

नोट: आरबीआई द्वारा जारी सेवा क्षेत्र के लिए नवीनतम आंकड़े अप्रैल 2021 के लिए है। मई 2021 के आंकड़े एक अनुमान हैं, जिनमें आरबीआई की बाद की रिलीज में संशोधन किया जा सकता है ।