May 24, 2022

वाशिंगटन पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका की पांच बड़ी कंपनियों के सीईओ से की मुलाक़ात, इस विषय पर हुई चर्चा

 4,593 total views,  2 views today

अपने चार दिवसीय दौरे पर वाशिंगटन पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल अमेरिका की पांच बड़ी कंपनियों के सीईओ और शीर्ष अधिकारियों के साथ मुलाकात की। पीएम मोदी ने वॉशिंगटन में पहले क्वालकॉम के सीईओ क्रिस्टियानो ई एमन, फिर अडोब के सीईओ शांतनु नारायण, फर्स्ट सोलर के संस्थापक मार्क विडमर, जनरल एटॉमिक्स के विवेक लाल और ब्लैकस्टोन के ए श्वार्जमैन से भी मुलाकात की। जानकारी के लिए बता दें कि पीएम मोदी ने आज जिन पांच लोगों के साथ बैठक की, उसमें दो भारतीय-अमेरिकी CEO भी शामिल हैं।

1) पीएलआई स्कीम पर की चर्चा

क्वालकॉम के सीईओ क्रिस्टियानो अमोन से बैठक के दौरान, भारत के दूरसंचार और इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र में पेश किए गए निवेश के अवसरों के विषयों पर चर्चा की गई। इसमें इलेक्ट्रॉनिक्स सिस्टम डिजाइन एंड मैन्युफैक्चरिंग (ESDM) के लिए हाल ही में लॉन्च की गई प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम (PLI) के साथ-साथ भारत में सेमी-कंडक्टर सप्लाई चेन के विकास शामिल हैं। इसके अलावा इस बैठक में भारत में स्थानीय नवाचार पारिस्थितिकी तंत्र के निर्माण की रणनीतियों पर भी चर्चा की गई।

क्रिस्टियानो अमोन से मुलाकात की तस्वीर साझा करते हुए प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर कहा कि पीएम मोदी ने उन्हें भारत में निवेश के अवसरों के बारे में बताया। एमन ने 5-जी और डिजिटल इंडिया जैसे क्षेत्रों में काम करने की इच्छा जताई है।

2) रक्षा प्रौद्योगिकी क्षेत्र की मजबूती पर हुई बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनरल एटॉमिक्स ग्लोबल कॉरपोरेशन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विवेक लाल से भी मुलाकात की। उन्होंने भारत में रक्षा प्रौद्योगिकी क्षेत्र को मजबूत करने की बात कही। लाल ने भारत में रक्षा और उभरती प्रौद्योगिकी निर्माण और क्षमता निर्माण में तेजी लाने के लिए हालिया नीतिगत परिवर्तनों की सराहना की। इस बातचीत में ड्रोन को लेकर हाल में ही केंद्र सरकार के द्वारा उठाये गये सुधार के विषयों पर भी बात हुई।

बातचीत के बाद विवेक लाल ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि उनकी कंपनी सहित अमेरिका में मौजूद कई कंपनियां भारत में अनेक अवसर देख रही हैं और भारत में सहयोग के कई मौके मौजूद हैं। जानकारी के लिए बता दें कि शांतनु नारायण भारतीय मूल के हैं। उनका जन्म हैदराबाद में हुआ था और उनकी इंजीनियरिंग की पढ़ाई हैदराबाद की ही उस्मानिया यूनिवर्सिटी में हुई। वे वर्ष 2007 से एडोबी के चेयरमैन और सीईओ बने हुए हैं।

3) स्टीफन श्वार्जमैन के साथ निवेश के अवसरों पर हुई चर्चा

ब्‍लैकस्‍टोन के सीईओ स्टीफन श्वार्जमैन के साथ हुई बैठक में प्रधानमंत्री ने भारत में निवेश के विभिन्न अवसरों पर और नेशनल इंफ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन और नेशनल मॉनीटाइजेशन पाइपलाइन से मिलने वाले अवसरों पर बात की। इस बैठक के बाद श्वार्जमैन ने कहा कि भारत ब्लैकस्टोन के निवेश के लिए सर्वश्रेष्ठ मार्केट रहा है। यह दुनिया का सबसे तेजी से उभरने वाला देश है, ऐसे में हम भारत को लेकर काफी सकारात्मक हैं।

4) भारत की नई शिक्षा नीति के विषय में हुई चर्चा

पीएम मोदी ने एडोब के सीईओ शांतनु नारायण से भी बैठक की। इस बैठक के बाद शांतनु ने कहा कि भारत को आगे बढ़ाने की उनकी दूरदृष्टि के बारे में सुनना हमेशा से बेहतरीन रहा है। जिन मुद्दों पर आज हमारे बीच बात हुई, उनमें नवाचार में निवेश शामिल था। मुझे भरोसा है कि तकनीक ही चीजों को आगे ले जा सकती है। भारत की नई शिक्षा नीति के विषय में नारायण ने कहा कि हमारे लिए सबसे बड़ी संपत्ति हमारे लोग हैं। शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए कुछ अच्छा होता है, तो एडोबी में वैसे भी डिजिटल शिक्षा मदद करती है। हम लोगों में शिक्षा के प्रति उनकी रुचि को बढ़ावा देते हैं।

इस मुलाकात के बाद पीएम मोदी ने कहा कि शांतनु नारायण भारत के एक महान मित्र हैं। मैं उनके साथ एड-टेक से संबंधित दिलचस्प विचारों पर चर्चा करने, भारतीय स्टार्ट-अप का समर्थन करने और नवाचार को बढ़ावा देने के लिए बैठा। शांतनु ने भारत के प्रत्येक बच्चे तक वीडियो और एनिमेशन का आनंद लेने की इच्छा व्यक्त की।

5) मार्क विडमर के साथ ग्लोबल सप्लाई चेन के विषय पर हुई बात

पीएम मोदी ने फर्स्ट सोलर के सीईओ मार्क विडमर के साथ भी बैठक की। इस बैठक में भारत की पीएलआई स्कीम के इस्तेमाल के जरिए भारत में सोलर पावर उपकरण के उत्पादन की योजना साझा की गई। इसके साथ ही भारत को ग्लोबल सप्लाई चेन में कैसे शामिल किया जाए, इस विषय पर भी बात हुई।

इस बैठक के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट किया कि सौर ऊर्जा का विषय मेरे दिल के बहुत करीब है, क्योंकि यह हमारे ग्रह के भविष्य से संबंधित है। फर्स्ट सोलर के सीईओ मार्क विडमर से मुलाकात की और भारत सौर ऊर्जा में निवेश करने के लिए सही जगह क्यों है, इस विषय पर चर्चा की। इसके अलावा हरित हाइड्रोजन मिशन के बारे में भी बात हुई।