August 11, 2022

उत्तराखंड: पचास हजार सालाना फीस पर छात्रों को मिलेगा एमबीबीएस कोर्स में प्रवेश, पढ़िए पूरी खबर

 2,887 total views,  4 views today

प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों में छात्रों के लिए एक बार फिर से बांड की व्यवस्था लागू करने की तैयारी की जा रही है। हम बात कर रहे हैं हल्द्वानी और देहरादून स्थित मेडिकल कॉलेजों की, जहाँ पर सरकार ने बांड की व्यवस्था खत्म कर दी थी। और इसके बाद दोनों मेडिकल कॉलेजों में छात्रों को चार लाख रुपये सालाना फीस चुकानी पड़ रही थी। इस फीस का छात्र काफी समय से विरोध कर रहे हैं। उत्तराखंड सरकार के प्रवक्ता सुबोध उनियाल ने कहा कि छात्र हित को देखते हुए फिर से दून और हल्द्वानी में बांड की व्यवस्था लागू की जाएगी। चिकित्सा शिक्षा विभाग को इसके लिए प्रस्ताव बनाने के निर्देश दिए हैं। अगली कैबिनेट में इस पर अंतिम फैसला लिया जाएगा। अभी सिर्फ श्रीनगर मेडिकल कालेज के छात्र ही इस सुविधा का लाभ उठा पा रहे हैं।

पचास हजार में मिलेगा एमबीबीएस में प्रवेश

अब तक मेडिकल कॉलेजों में बिना बांड के चार लाख रुपये सालाना फीस चुकाने के बाद एमबीबीएस कोर्स में प्रवेश मिलता था। लेकिन सरकार के नए फैसले के बाद अब दून और हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज में पचास हजार सालाना फीस पर छात्रों को एमबीबीएस कोर्स में प्रवेश मिल जाएगा। वहीं श्रीनगर मेडिकल कॉलेज में भी बांड की फीस पचास हजार रुपये है। बांड वाले डॉक्टरों को एक साल मेडिकल कॉलेज में इंटर्नशिप और दो साल राज्य में नौकरी करने की बाध्यता होगी। 

दून मेडिकल कॉलेज में बनेगी बर्न यूनिट

प्रशासन ने दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में बर्न यूनिट बनाये जाने की मंजूरी दे दी है। और इसके लिए 35 पदों को मंजूर किया गया है।

सोमेश्वर अस्पताल में और 70 बेड बढ़ाये जाएंगे

प्रशासन ने सोमेश्वर सरकारी अस्पताल को उच्चीकृत करके 70 और बेड बनाने का निर्णय लिया है। सोमेश्वर सरकारी अस्पताल में अब तक 30 बेड थे जिसे अब बढ़ाकर 100 बेड किया जाएगा।

एएनएम के प्रोमोशन में आएगी तेज़ी

इसके अलावा सरकर ने नियमों में बदलाव करते हुए एएनएम के प्रमोशन में छह माह के प्रशिक्षण की बाध्यता में एक बार छूट देने का निर्णय किया है। प्रदेश का एएनएम संघ लम्बे समय से प्रमोशन में वन टाइम रिलेक्सेशन की मांग कर रहा था। नियम में बदलाव के बाद राज्य में 180 के करीब एएनएम को जल्द प्रमोशन मिल सकेगा।