October 19, 2021

अल्मोड़ा: अल्मोड़ा: शीतलाखेत क्षेत्र में अवैध शराब बिक्री के खिलाफ महिलाओं और युवाओं ने निकाली चेतावनी रैली

 2,382 total views,  2 views today

अल्मोड़ा के शीतलाखेत क्षेत्र में अवैध शराब की  बिक्री के विरोध पर ग्रामीणों में काफी आक्रोश है। वही रविवार को एकता संगठन के बैनर तले क्षेत्र के ग्राम पंचायतों, जिसमें स्याहीदेवी, शीतलाखेत, सल्ला रौतेला, नौला, सूरी, फड़का, मटिला, सड़का, बेड़गांव, खूंट, मटीला, मटीलाधूरा, खरकिया, डोलपोखरा, चम्पाखाली, बडगल रौतेला, गडस्यारी, डोल सहित आसपास के सैकड़ों ग्रामीण चेतावनी रैली में शामिल हुए।  लोगों ने शीतलाखेत से काकडीघाट तक चेतावनी रैली निकाली। जिसमें बड़ी संख्या में महिलाएं और युवा मौजूद रहे।

प्रशासन से की कड़ी कार्यवाही की मांग-

जिसमें ग्रामीणों ने प्रशासन से भी क्षेत्र में शराब के खिलाफ कड़े कदम उठाने की मांग की। महिलाओं ने काकडीघाट में अवैध रूप से शराब बेचने वाले दुकानदारों के आगे जमकर प्रदर्शन किया। ग्रामीणों ने कहा कि क्षेत्र के आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में लंबे समय से गांव-गांव अवैध शराब बिक्री हो रही है। अवैध शराब से गांव-घरों में माहौल खराब हो रहा है। जबकि युवा और छोटे बच्चे भी नशे की लत के शिकार हो रहे हैं। ग्रामीणों ने शराब व्यापारियों को चेताते हुए अवैध कारोबार को बंद करने की अंतिम चेतावनी दी।

पूर्व में भी महिलाओं ने जताया विरोध-

इससे पूर्व में भी महिलाओं ने अवैध शराब के खिलाफ कटपुड़िया में जाम लगा अवैध शराब कारोबारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की थी। इस बार प्रर्दशन करते हुए महिलाओं ने कहा कि अगर कोई भी शराब बेचता हुआ पाया गया तो उसका मुंह काला कर पूरे क्षेत्र में घुमाया जाएगा।

इस दौरान यह लोग रहे मौजूद-

इस दौरान एकता संगठन के अध्यक्ष मुकेश सिंह रौतेला, राजेंद्र सिंह बिष्ट, महेंद्र सिंह, कोषाध्यक्ष कमलेश सिंह बिष्ट, ग्राम एकता महिला संगठन अध्यक्ष दीपा जीना, कमलेश सिंह, कुबेर सिंह, महेंद्र सिंह, मीना, मंजू, सोनिया बिष्ट, जया गोस्वामी, मीना आर्या, अर्मता देवी, सरस्वती देवी, शांति देवी, रेनू परिहार, बीना कनवाल, पार्वती देवी, गीता देवी, बिमला देवी, पुष्पा देवी, कामाक्षी बिष्ट, देवली देवी, हीरा देवी, आशा देवी, पदमा देवी, चंपा देवी, हंसी देवी, दीपा देवी, लक्ष्मी, ज्योति, उमा देवी, हेमा बिष्ट, सुनीता देवी, कमला देवी, बबीता परिहार, गुड्डू, संदिप रौतेला, हेम पाठक, धीरज जीना, राजू, जगत समेत कई ग्रामीण महिलाएं मौजूद रही।