October 23, 2021

अल्मोड़ा: प्राथमिक शिक्षक भर्ती में देरी होने से नाराज डायट डीएलएड प्रशिक्षितों ने मुख्य शिक्षा अधिकारी को सौंपा ज्ञापन

 2,121 total views,  2 views today

डीएलएड प्रशिक्षितों ने मुख्य शिक्षा अधिकारी को  सौंपा ज्ञापन-

राज्य के सरकारी प्राथमिक विद्यालयों में बमुश्किल चार (4) वर्षों बाद नवंबर 2020 में जनपद वार आवेदन विज्ञापित किये गये थे। जिसमें तय समय पर भर्ती संपन्न करवाने हेतु विभाग द्वारा कैंलेडर भी जारी किया गया।
सर्वाधिक संख्या में अल्मोड़ा जनपद में रिक्त सीटों पर लगभग 26000 लोगों के आवेदन प्राप्त हुये किंतु पांच (5) माह बीत जाने के बाद भी अभी तक डाटा एंट्री का कार्य पूर्ण नहीं हुआ है, जबकि समान संख्या में आवेदन प्राप्त जनपद बागेश्वर, पिथौरागढ़,चमोली व उधम सिंह नगर में डाटा एंट्री का काम पूर्ण हो चुका है और शीघ्र ही प्रत्यावेदन बनाकर बेबसाइट पर अपलोड भी कर दिया जायेगा। जिस पर उत्तराखंड डायट डीएलएड संघ ने आज मुख्य शिक्षा अधिकारी अल्मोड़ा को ज्ञापन सौंपा गया।

जल्द डेटा एन्ट्री का काम किया जाए शुरू-

इस ज्ञापन में जल्द डेटा एन्ट्री का काम करने की बात कही गयी। वही अन्य जगह जारी कैलेंडर के अनुसार ही तय समय के अंदर डाटा एंट्री कार्य पूर्ण कर किया है। तो अब इन जिम्मेदार अधिकारियों को किस विशेष आदेश का इंतजार है। जिसके लिए अल्मोड़ा में भी जल्द यह काम शुरू किया जाए। डायट डीएलएड के वक्ताओं ने बताया कि संबंधित उच्च अधिकारियों से कई बार इस संबंध में बातचीत की गयी है किंतु  हर बार यही बताया जाता है कि जैसे ही ऊपर से आदेश आयेगा तो कार्य एक दिन में ही पूरा हो जायेगा।

जल्द से जल्द प्राथमिक शिक्षक भर्ती होगी संपन्न-

शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने डायट डीएलएड संघ से हुई कई बार मुलाकातों मेंं स्पष्ट कर दिया है कि जल्द से जल्द प्राथमिक शिक्षक भर्ती संपन्न होगी। फिर भी मंत्री के आदेश के बाद भी देरी हो रही है।

शिक्षा मंत्री ने रिक्त पदों पर प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती करवाने का दिया गया था आदेश-

विगत वर्ष उत्तराखंड डायट डीएलएड संघ के दिन रात चले धरने के बाद शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय ने कैंलेंडर जारी करने के साथ सभी जनपदों में रिक्त पदों पर प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती करवाने का आदेश दिया, जिसके फलस्वरूप दस जनपदों में लगभग 2600 पदों पर विज्ञापन जारी किया गया। किंतु अभी तक कुछ नहीं हुआ।वही कोरोनाकाल म़े विगत डेढ़ साल से प्राइवेट स्कूलों के बच्चे लगातार आनलाईन माध्यम से शिक्षण कार्य कर रहे हैं वहीं सरकारी प्राथमिक स्कूलों के बच्चों का भविष्य अधर में लटका है तथा सरकारी प्रशिक्षण संस्थानों से प्रशिक्षित  बेरोजगार रोजाना जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय और निदेशालय देहरादून के चक्कर काटने को मजबूर हैं।

इस दौरान यह लोग रहे मौजूद-

इस दौरान ज्ञापन सौंपने वालों में डायट डीएलएड संघ के प्रदेश अध्यक्ष पवन मुस्यूनी, प्रदेश सचिव केवल प्रसाद, प्रदेश कोषाध्यक्ष प्रियंका वर्मा,दिव्या तिवारी,आरती लटवाल, कविता गैड़ा,ममता रावत,निर्मला दानू,गोकुल आर्या, विजय कुमार,सौरभ कांडपाल मौजूद रहे।