अल्मोड़ा: प्राथमिक शिक्षकों का बुनियादी साक्षरता एवं संख्याज्ञान तथा विद्यालय सुरक्षा, 6 दिवसीय शिक्षक प्रशिक्षण का द्वितीय चक्र हुआ प्रारंभ

अल्मोड़ा जिले से जुड़ी खबर सामने आई है। विकास खण्ड हवालबाग के प्राथमिक शिक्षकों का बुनियादी साक्षरता एवं संख्याज्ञान तथा विद्यालय सुरक्षा, 6 दिवसीय शिक्षक प्रशिक्षण द्वितीय चक्र रैमजे इण्टर कॉलेज, अल्मोड़ा में प्रारम्भ हुआ।

प्रत्येक बच्चे तक पहुॅचाए तभी प्रशिक्षण की है सार्थकता

प्रशिक्षण का शुभारम्भ ऑनलाइन गूगल मीट के माध्यम से निदेशक एससीईआरटी वंदना गबर्याल ने किया। उन्होंने अपने उद्बोधन में शिक्षकों से कहा कि प्रशिक्षण का लाभ प्रत्येक बच्चे तक पहुॅचाए तभी प्रशिक्षण की सार्थकता है। प्रशिक्षण स्थल में उपस्थित उप शिक्षा अधिकारी हवालबाग, सुरेश चन्द्र आर्या ने प्रशिक्षण कार्यक्रम की रूपरेखा व प्रशिक्षण के उद्देश्यों पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि निपुण भारत कार्यक्रम के उद्देश्यों, लक्ष्यों तथा अनुसंधानों को जानना जरूरी है, जैसे बुनियादी साक्षरता के घटकों भाषा विकास, ध्वनि जागरूकता वर्ण/मात्रा ज्ञान धारा प्रवाह पठन आदि।

शिक्षक/शिक्षिकाओं का लिया गया प्री टेस्ट

उदघाटन सत्र के पश्चात सभी प्रतिभागियों को 4 ग्रुपों में बाॅंटकर प्रतिभागी शिक्षक/शिक्षिकओं का प्री टेस्ट लिया गया। इस प्रशिक्षण में विकास खण्ड हवालबाग के 111 शिक्षक/शिक्षिकाओं तथा 10 मास्टर ट्रेनर द्वारा प्रतिभाग किया जा रहा है।

उपस्थित रहे

इस अवसर पर कार्यक्रम संयोजक बद्री सिंह भैंसोड़ा, प्रशिक्षक जगदीश सिंह भण्डारी, पूनम साह, नगमा नाज, गणेश लाल, सुनीता पालीवाल, कविता गैड़ा, हरिविलास पनेरू, सौरभ जोशी, चन्द्र प्रकाश आर्या, हीरा चिलकोटी, सना, अभिलाषा अवस्थी, जगत सिंह नेगी, डाॅ. मोहन चन्द्र पाण्डे, पवन उपाध्याय, सुरेन्द्र भण्डारी, पवन मुस्यूनी आदि उपस्थित रहे।