July 3, 2022

अल्मोड़ा: 23 दिन बीतने के बाद भी समाधान नहीं निकलने से पर्वतीय सरकारी सस्ता गल्ला विक्रेताओं में पनपा रोष

 1,523 total views,  6 views today

पर्वतीय सरकारी सस्ता गल्ला विक्रेता कल्याण समिति के कुमाऊँ क्षेत्र के प्रदेश अध्यक्ष मनोज वर्मा ने  दिनांक 20 सितम्बर को देहरादून  में गल्ला विक्रेताओं द्वारा किये गये अभूतपूर्व प्रदर्शन
पर सभी पदाधिकारियों व गल्ला विक्रेताओं को बधाई देते हुए उनका आभार व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि हमारी एकता ही हमारी मांगों को पूरा करने सहायक  होगी।

23 दिन बीतने के बाद भी नहीं हुआ समाधान

उन्होंने रोष व्यक्त करते हुए कहा कि हड़ताल के 23 दिन बीतने के बाद भी शासन प्रशासन द्वारा समिति से कोई सम्पर्क समाधान हेतु नहीं किया गया है। उन्होने शासन से मांग की कि यदि वह पर्वतीय क्षेत्र की विक्रेताओं की मांगों हेतु समस्या वार्ता  करनी होगी तो वह पर्वतीय सस्ता गल्ला विक्रेता समिति से ही सम्पर्क कर वार्ता करें किसी अन्य संगठन से वार्ता करने पर हम उससे सहमत नहीं होगे क्योंकि हमने अपना नया संगठन का गठन कर लिया है।

प्रदेश अध्यक्ष ने किया अनुरोध

प्रदेश अध्यक्ष  मनोज वर्मा ने पर्वतीय क्षेत्र के सभी जिलापूर्ति अधिकारियों से अनुरोध किया है कि वह इस आन्दोलन में  समिति का सहयोग करें। उन्होंने कहा कि इस हड़ताल के सभी सम्बंध में पूर्व में ही विभाग / प्रशासन / शासन को लिखित तौर पर अवगत करा दिया गया है परंतु कुछ जिलापूर्ति अधिकारियों  द्वारा सहायक खाद्य निरीक्षकों को निर्देशित किया जा रहा है कि जिन विक्रेताओं द्वारा खाद्यान का उठान नहीं किया जा रहा है उनके विरुद्ध कार्यवाही करें जिसे सहन नहीं किया जायेगा। उन्होंने पर्वतीय क्षेत्र के विक्रेतों से कहा कि वह इस प्रकार के नोटिस से घबरायें नहीं बल्कि डटकर सामना करें और खाद्यान का उठान बिल्क़ुल न करें। विभाग के इस प्रकार के नोटिसों से समिति निपटेगी तथा किसी भी प्रकार का किसी विक्रेता का अहित नहीं होने दिया जायेगा।

शीघ्र बैठक आयोजित होगी

उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में शीघ्र प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक आयोजित की जायेगी। यह भी निर्णय लिया गया कि यदि शासन द्वारा पर्वतीय क्षेत्र के विक्रेताओं को मानदेय स्वीकृत नहीं किया गया तो पर्वतीय क्षेत्र के सभी अन्न महोत्सव कार्यक्रम का बहिष्कार करेंगे ।