February 2, 2023

Khabribox

Aawaj Aap Ki

अल्मोड़ा: भुजान में पूर्व छात्रों, अभिभावकों का प्रदर्शन, शिक्षकों को विद्यालय में किया कैद

 2,998 total views,  2 views today

अल्मोड़ा से जुड़ी खबर सामने आई है।  रानीखेत तहसील के राजकीय इंटर कॉलेज भुजान में शिक्षकों की करतूतों के कारण बिगड़ रहे माहौल से अभिभावकों और विद्यालय के पूर्व छात्रों में आक्रोश व्याप्त है। विद्यालय की शिक्षिका द्वारा स्कूल के ही एक शिक्षक पर छेड़खानी का आरोप लगाने के बाद रविवार को पूर्व छात्रों और अभिभावकों ने विद्यालय में प्रदर्शन किया। अभिभावकों और छात्रों ने विद्यालय के मुख्य गेट में ताला लगाकर शिक्षकों को विद्यालय में ही कैद कर दिया। हंगामा बढ़ने पर संयुक्त मजिस्ट्रेट और खंड शिक्षा अधिकारी ने मौके पर पहुंचकर प्रदर्शनकारियों को समझाने का प्रयास किया। पूर्व छात्रों, अभिभावकों ने विवादित शिक्षकों का 15 दिन के भीतर स्थानांतरण नहीं किए जाने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी।

इससे पहले भी विद्यालय की एक महिला शिक्षिका ने विद्यालय के तीन शिक्षकों पर जातिगत भेदभाव का आरोप लगाया

   दरअसल, जीआईसी भुजान में कुछ समय से कुछ शिक्षकों की हरकतों के कारण शैक्षिक माहौल खराब बना है। विद्यालय की महिला प्रवक्ता ने विद्यालय के ही एक शिक्षक पर छेड़खानी और अभद्र टिप्पणी करने का आरोप लगाते हुए गत शुक्रवार को शिक्षक के विरुद्ध राजस्व पुलिस में मुकदमा दर्ज कराया है। इससे पहले भी विद्यालय की एक महिला शिक्षिका ने विद्यालय के तीन शिक्षकों पर जातिगत भेदभाव का आरोप लगाते हुए  एक सितंबर को राजस्व पुलिस में एससी एसटी एक्ट में केस दर्ज कराया था। इधर, विद्यालय में शिक्षकों की वजह से बिगड़ते शैक्षिक माहौल से आक्रोशित स्कूल के पूर्व छात्रों और अभिभावकों ने रविवार को गांधी जयंती कार्यक्रम के बाद विद्यालय में प्रदर्शन किया। पूर्व छात्रों, अभिभावकों ने विद्यालय के मुख्य गेट पर ताला ठोककर शिक्षकों को विद्यालय में ही कैद कर दिया।

अभिभावकों ने विवादित शिक्षकों को विद्यालय से हटाए जाने की मांग की

प्रदर्शनकारी छात्रों और अभिभावकों ने विवादित शिक्षकों को विद्यालय से हटाए जाने की मांग की। हंगामा बढ़ने पर रानीखेत से संयुक्त मजिस्ट्रेट जय किशन और खंड शिक्षा अधिकारी एसएस चौहान भी मौके पर पहुंचे, उन्होंने प्रदर्शनकारियों को समझाने का प्रयास किया। पूर्व छात्रों और अभिभावकों ने कहा कि शिक्षा के मंदिर में कुछ शिक्षकों की करतूतों से शैक्षिक माहौल बुरी तरह प्रभावित हो चला है। इससे विद्यार्थियों पर भी गलत प्रभाव पड़ रहा है। उन्होंने विवादित शिक्षकों का विद्यालय से तत्काल स्थानांतरण करने की मांग की।

उग्र आंदोलन शुरू करने की चेतावनी दी

खंड शिक्षा अधिकारी के आश्वासन के बाद प्रदर्शनकारी शांत हुए तथा 15 दिन के भीतर कार्रवाई नहीं होने पर उग्र आंदोलन शुरू करने की चेतावनी दी। खंड शिक्षा अधिकारी चौहान ने बताया कि मुख्य शिक्षा अधिकारी को पत्र भेजकर विवादित पांच शिक्षकों के स्थानांतरण की संस्तुति की गई है।