January 30, 2023

Khabribox

Aawaj Aap Ki

अल्मोड़ा: क्वारब से भवाली तक किये जा रहे कार्यो में लापरवाही बरतने व कार्य को लम्बित रखने के सम्बन्ध में तत्काल जांच कराते हुये दोषी अधिकारियों के विरूद्व कठोर कार्यवाही की जाय – पूर्व उपाध्यक्ष एन.आर.एच.एम बिट्टू कर्नाटक

 2,097 total views,  2 views today

पूर्व उपाध्यक्ष एन.आर.एच.एम बिट्टू कर्नाटक ने जिलाधिकारी,अल्मोडा के माध्यम से  नितिन गडकरी केन्द्रीय सड़क परिवहन,राजमार्ग व जहाजरानी मंत्री,भारत सरकार को एक ज्ञापन प्रेषित कर उन्हें अवगत कराया कि भवाली से क्वारब तक के राष्ट्रीय राजमार्ग में लम्बे समय से कार्य किया जा रहा है जो आज दिनांक तक पूर्ण नहीं हो पाया है । जिस कारण इस मार्ग में चलना दुभर हो रहा है तथा आये दिन दुर्घटनायें हो रही हैं ।

यह मार्ग मौत का कुंआ बन गयी है

          उन्होंने कहा कि इस मार्ग पर पत्थर (बोल्डर) गिरने से पूर्व में भी मौतें/दुर्घटनायें हो चुकी है तथा दिनांक 17.09.2022 को पुनः गुजरात के पर्यटक जो कैंची धाम से खैरना की ओर घूमने के लिये आ रहे थे की कार बोल्डर गिरने से दुर्घटनाग्रस्त हो गयी जिसमें एक व्यक्ति की दर्दनाक मौत हो गयी । उन्होंने कहा कि इस राष्ट्रीय राजमार्ग के सुधारीकरण/चौडीकरण के कार्य को कछुवा गति से किये एवं अधिकारियों की उदासीनता/लापरवाही के कारण यह मार्ग मौत का कुंआ बन गयी है ।

गर्भवती महिलाओं तथा गम्भीर रूप से बीमार व्यक्तियों पर इसका सीधा प्रभाव पड रहा है

राष्ट्रीय राजमार्ग की अत्यधिक खराब स्थिति के कारण गर्भवती महिलाओं तथा गम्भीर रूप से बीमार व्यक्तियों पर इसका सीधा प्रभाव पड रहा है । राष्ट्रीय राजमार्ग के अत्यधिक क्षतिग्रस्त होने के कारण इस मार्ग से पर्यटक नहीं आ रहे हैं जिस कारण पर्यटन व्यवसाय प्रभावित हुआ है । जिसका भारी आर्थिक नुकसान पर्यटन व्यवसायियों को उठाना पड रहा है ।

राष्ट्रीय राजमार्ग में क्वारब से भवाली तक किये जा रहे कार्यो में लापरवाही बरतने और कार्य को लम्बित रखने के सम्बन्ध में की तत्काल जांच की मांग

उन्होंने केन्द्रीय मंत्री से मांग की कि राष्ट्रीय राजमार्ग में क्वारब से भवाली तक किये जा रहे कार्यो में शिथिलता/लापरवाही बरतने और कार्य को लम्बित रखने के सम्बन्ध में तत्काल जांच कराते हुये दोषी अधिकारियों के विरूद्व कठोर कार्यवाही की जाय तथा उक्त मार्ग में लगातार हो रही दुर्घटनाओं एवं घातक परेशानियों से पर्वतीय जनपदों के नागरिकों को निजात दिलाने हेतु सुधारीकरण/चौडीकरण कार्य को विशेष प्राथमिकता आधार पर  पूर्ण करवाया जाय ताकि किसी दर्दनाक हादसे की पुनरावृत्ति न हो सके ।