August 14, 2022

अल्मोड़ा: लगातार हो रही बारिश से दीवार ढहने से पूर्व पोखरखाली मनीष तिवारी के घर में बना खतरा, खतरे की आशंका को देखते हुए पूर्व में प्रशासन से भी कर चुके हैं अपील

 2,228 total views,  2 views today

बीते कुछ दिनों से उत्तराखंड के कई इलाकों  में निरन्तर बारीश हो रही है । जिसके कारण अलग- अलग क्षेत्रों से कई नुकसान की खबरे सामने आ रही है । ऐसे ही एक खबर अल्मोड़ा के पोखरखाली से आ रही हैं जहां बारिश का पानी, जेल रोड के  निजी रास्तों से बहकर  गधेरे और नाले , के रूप में पोखरखाली निवासी  मनीष तिवारी के घर में आ रहा है , और आज किसी दूसरे की दीवार गिरने से मनीष तिवारी के घर में खतरा बढ़ गया है,जिससे पूरे भवन को खतरा बना हुआ है । जिसके लिए उन्होंने दिनांक 12-06-2021 को आपदा प्रबंधन को  पत्र भेजकर इसकी सूचना भी दी थी ।



जान माल के नुकसान की संभावना

दिनांक 2जून 2021 व 10 जून 2021 तथा 12 जून 2021 को हुई निरंतर बारिश में सड़क का पानी वर्ष 2018-19 में आपदा मद से बनी दीवार के पास बाकी भूमि से बहकर हाल ही में बने ए. पी.एस. टावर से लगती हुई सीढ़ियों से निकासी की उचित व्यवस्था नहीं होने के कारण उनके भवन के पीछे सीड़ीयों से बहते हुए गधेरे रूप में आ रहा था  जिससे गली व घर में कई बार मलवा व पानी आ रहा है, जिससे खतरा बना हुआ है।  इसके साथ ही जेल सड़क का पानी अनावश्यक रूप से बनी सीढ़ियों से विकराल रूप में आ रहा है जिससे जान-माल के नुकसान होने की पूर्ण संभावना है। पानी की निकासी की उचित व्यवस्था नहीं होने के कारण सड़को पर बने कई घरों का पानी इस पर बहता रहता है। जिससे सड़क से नीचे बने और कई स्थानों को खतरा उत्पन्न हो गया है, ।

10 जून को आपदा प्रबंधन अधिकारी, अल्मोड़ा को अवगत कराया गया

दिनांक 10 जून 2021 को उनके पड़ोसी द्वारा भी आपदा प्रबंधन अधिकारी, अल्मोड़ा को इस संबंध में अवगत कराया गया था, स्थलीय निरीक्षण में विभागीय पटवारी और सभासद नगर पालिका परिषद अल्मोड़ा को भी भण्डारी भवन से बनी पालिका की सीड़ीयों और पूर्व में आपदा मद से बनी दीवार के पास से नीचे खाली भूमि के सहारे अनावश्यक रूप से सीढ़ियों  से पानी व मलवा आने के साथ दीवार ध्वस्त होने की सूचना प्रदान की गयी थी ।  उसके बाद भी विभाग द्वारा कोई कड़ी कार्यवाही नहीं की गयी । दीवार ढह जाने की वजह से भवन को और अधिक खतरा हो गया  है ।