October 23, 2021

1 अगस्त: मुस्लिम महिला अधिकार दिवस, आइये जाने इसके बारे में

 3,924 total views,  2 views today

आज रविवार के दिन देश भर में विभिन्न संगठनों द्वारा ‘मुस्लिम महिला अधिकार दिवस’ मनाया जा रहा है।केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्रालय ने शादीशुदा मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों की रक्षा के लिए तीन तलाक को अपराध घोषित करने की वर्षगांठ एक अगस्त को ‘मुस्लिम महिला अधिकार दिवस’ के रूप में मनाने का फैसला किया है ।

तीन तलाक के मामलों में बड़ी गिरावट

इस संबंध में केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने शनिवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को तीन तलाक के कदाचार के खिलाफ कानून लाने का श्रेय दिया। उन्होंने यह भी कहा कि कानून लागू होने के बाद तत्काल तलाक के मामलों में बड़ी गिरावट आई है। देश भर की मुस्लिम महिलाओं ने इसका स्वागत किया है।

मुस्लिम महिलाओं को मिला समानता का अधिकार

अल्पसंख्यक कार्य मंत्री ने कहा कि ‘तीन तलाक’ को कानूनी अपराध बना कर मोदी सरकार ने मुस्लिम महिलाओं के ‘आत्म निर्भरता, आत्म सम्मान, आत्म विश्वास’ को पुख्ता कर उनके संवैधानिक-मौलिक-लोकतांत्रिक एवं समानता के अधिकारों को सुनिश्चित किया है।

एक अगस्त 2019 को तीन तलाक को किया गया था कानूनी अपराध घोषित

आपको बता दे की , प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने एक अगस्त 2019 के दिन ‘तीन तलाक या तलाके बिद्दत’’ को कानूनी अपराध घोषित किया था। उन्होंने कहा कि “तीन तलाक” के कानूनी अपराध बनाये जाने के बाद बड़े पैमाने पर तीन तलाक की घटनाओं में कमीं आई है।