January 20, 2022

आयुष मंत्रालय ने पहला वैश्विक सूर्य नमस्कार कार्यक्रम आयोजित किया..

 1,429 total views,  4 views today

आज मकर संक्राति है। उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने मकर संक्रांति और पोंगल पर देशवासियों को शुभकामनाएं दी हैं। श्री नायडू ने कहा कि सूर्य देव को समर्पित मकर संक्रांति का त्यौहार उत्तरायण काल की शुरुआत का प्रतीक है।

असम में माघ या भोगाली बीहू

असम में माघ या भोगाली बीहू का त्‍यौहार आज परम्‍परागत हर्षोल्‍लास से मनाया जा रहा है। फसल कटाई के बाद मनाए जाने वाले इस उत्‍सव में जीवन के सभी क्षेत्रों के लोगों ने हिस्‍सा लिया। मंत्रोच्‍चार के बीच, लकडी और घास-फूस से बनाए गए मेजी और भेलाघर जलाए गए। उरुका के अवसर पर कल रात सामुदायिक भोज आयोजित किए गए।

तमिलनाडु में आज पोंगल

तमिलनाडु में आज पोंगल का त्‍यौहार परम्‍परागत हर्षोल्‍लास के साथ मनाया जा रहा है। इस दिन से थाई महीने की शुरूआत होती है। हमारे संवाददाता ने बताया है कि यह त्‍यौहार मुख्‍य रूप से फसल और खेती से जुड़ा है।

एक करोड़ से भी अधिक लोगों ने वैश्विक सूर्य नमस्कार कार्यक्रम में भाग लिया।

मकर संक्रांति के अवसर पर आज एक करोड़ से भी अधिक लोगों ने वैश्विक सूर्य नमस्कार कार्यक्रम में भाग लिया। सूर्य नमस्कार आठ आसनों का समूह है, जिसे मन और शरीर के समन्वय से 12 चरणों में किया जाता है। यह कार्यक्रम आयुष मंत्रालय ने आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत आयोजित किया। देश और विदेश के प्रमुख योग संस्थानों ने इस विश्वव्यापी कार्यक्रम में भाग लिया।

आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने इस अवसर पर लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि सूर्य नमस्‍कार से शरीर में शक्ति और रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में शुरू किया गया। श्री सोनोवाल ने बताया कि सरकार लोगों के स्वास्थ्य को मजबूत बनाने के लिए प्रतिबद्ध है।

आयुष राज्य मंत्री डॉक्टर मुंजपारा महेन्द्र भाई कालू भाई ने कहा कि सूर्य नमस्कार योग का एक प्रमुख अंग है। इससे शरीर चुस्त-दुरुस्त रहता है।