October 3, 2022

बागेश्वर: ओखलीसिरोंद झिरौली में रुकवाया नाबालिग लड़की का विवाह.. साथ ही उपस्थित लोगों को किया जागरूक

 2,482 total views,  2 views today

दिनांक 26.04.2022 को एन्टी ह्यूमैन ट्रैफिकिंग सैल बागेश्वर को सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम ओखलीसिरोंद झिरौली में दिनांकः 10-05-2022 को एक नाबालिक लड़की की शादी होने वाली है,प्राप्त सूचना पर तत्काल आवश्यक कार्यवाही करते हुए एवं उक्त सूचना से उच्चाधिकारियों को सूचित कर प्रभारी एण्टी हयूमैन ट्रैफ़िकिंग सैल, त्रिलोक राम बगरेठा, बागेश्वर, मय वन स्टॉप सेन्टर बागेश्वर के मौके पर ग्राम ओखलीसिरोंद पहुंचे तो पता चला कि ग्राम ओखलीसिरोंद में एक नाबालिग लड़की का विवाह दिनांकः10-05-22 को होना तय है जिसकी तैयारियां चल रही हैं।

एण्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सैल बागेश्वर/वन स्टॉप सेन्टर की टीम ने नाबालिग का रुकवाया विवाह

जन्मतिथि के सम्बन्ध में दस्तावेज चैक किये गये तो लड़की का नाबालिक होना पाया गया जो 18 वर्ष से कम की थी तो एण्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सैल बागेश्वर/वन स्टॉप सेन्टर की टीम द्वारा नाबालिक का विवाह जो 10 मई को होना था रुकवाया गया।

पुत्री की शादी बालिग होने के उपरांत ही करूंगा- पिता

उक्त सम्बन्ध में नाबालिक के परिजनों की काउंसलिंग करायी गयी तो बाद काउसलिंग नाबालिग के पिता द्वारा लिखित प्रार्थना पत्र दिया कि मैं अपनी पुत्री की शादी बालिग होने के उपरान्त ही करूँगा।

गांव में उपस्थित लोगों को बाल-अपराध, बाल-विवाह आदि चीजों के बारे में दी जानकारी

एण्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सैल, वन स्टॉप सेन्टर की टीम द्वारा ओखलीसिरोंद गांव में उपस्थित लोगों को बाल विवाह,बाल अपराध, महिला सुरक्षा, चाइल्ड हेल्प लाइन, बाल भिक्षा वृत्ति,मानव तस्करी, साइबर क्राइम, यातायात नियमों, नशा मुक्ति तथा उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा चलाये जा रहे विभिन्न प्रकार के एप जैसे- गौरा शक्ति एप, देवभूमि एप, उत्तराखण्ड ट्रैफिक आई एप के साथ-साथ डॉयल- 112, 1090, साइबर हेल्पलाइन नम्बर- 1930 आदि के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई।

स्कूल के बच्चों को विभिन्न प्रकार के एपो और साइबर हेल्प लाइन नंबर के बारे में दी जानकारी

तत्पश्चात प्रभारी एण्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सैल बागेश्वर व थाना झिरौली पुलिस टीम द्वारा प्राइमरी पाठशाला पासदेव झिरौली में भी स्कूल के बच्चों एवं उपस्थित स्टाफ को उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा चलाये जा रहे विभिन्न प्रकार के एप जैसे- गौरा शक्ति एप, देवभूमि एप, उत्तराखण्ड ट्रैफिक आई एप के साथ-साथ डॉयल- 112, 1090, साइबर हेल्पलाइन नम्बर- 1930 आदि के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई।