October 26, 2021

रिज़ल्ट: 99.04 उत्तीण प्रतिशत के साथ 10वी सीबीएसई का अबतक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन

 3,098 total views,  2 views today

12वी के रिज़ल्ट के बाद सीबीएसई ने 10वीं के नतीजे घोषित कर दिए हैं। बोर्ड परीक्षा में 99.04 प्रतिशत विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। यह पिछले साल की तुलना में 8 प्रतिशत से अधिक की छलांग है। गत वर्ष 91.46 प्रतिशत विद्यार्थियों ने परीक्षा उत्तीर्ण की थी। वहीं सीबीएसई ने भी कहा है कि 10वीं कक्षा के नतीजे अब तक के सर्वश्रेष्ठ परिणामों में से हैं। यह संभवत: पहला मौका है जब लगभग सभी विद्यार्थियों ने परीक्षा पास कर ली है।

21,13,767 छात्र हुए थे पंजीकृत

सीबीएसई की आधिकारिक वेबसाइट पर घोषित परिणाम के अनुसार, कक्षा 10 की परीक्षा के लिए कुल 21,13,767 उम्मीदवारों ने पंजीकरण कराया था, जिनमें से 20,97,128 छात्रों के परिणाम जारी किए गए हैं। कुल 16,639 छात्रों का परिणाम अभी तैयार नहीं हुआ है और उसे बाद में घोषित किया जाएगा। 57,824 छात्रों ने 95 प्रतिशत से अधिक स्कोर किया है जबकि दो लाख से अधिक ने 90 से 95 प्रतिशत के बीच अंक प्राप्त किए हैं। इस साल कोई मेरिट लिस्ट घोषित नहीं होगी।

क्षेत्रवार सीबीएसई 10वीं के नतीजे

जोन के क्षेत्रवार लिहाज से सीबीएसई के दसवीं के नतीजों में सबसे ऊपर त्रिवेंद्रम रहा। त्रिवेंद्रम में 99.99 प्रतिशत परिणाम रहा है। दूसरे स्थान पर 99.96 प्रतिशत के साथ बेंगलुरु है। इसके बाद चेन्नई – 99.94 प्रतिशत, पुणे – 99.92 प्रतिशत, अजमेर – 99.88 प्रतिशत, पंचकुला – 99.77 प्रतिशत, पटना – 99.66 प्रतिशत, भुवनेश्वर – 99.62 प्रतिशत, भोपाल – 99.47 प्रतिशत, चंडीगढ़ – 99.46 प्रतिशत, देहरादून – 99.23 प्रतिशत, प्रयाग – 99.19 प्रतिशत, नोएडा – 98.78 प्रतिशत, दिल्ली पश्चिम – 98.74 प्रतिशत, दिल्ली पूर्व – 97.80 प्रतिशत और गुवाहाटी – 90.54 प्रतिशत का स्थान है।

10वीं में दिल्ली क्षेत्र के 98.19 प्रतिशत बच्चे पास हुए हैं। विदेशी छात्रों में 99.92 प्रतिशत परिणाम रहा है। केंद्रीय विद्यालयों का रिजल्ट 100 प्रतिशत रहा।

लड़कियों ने मारी बाज़ी

सीबीएसई कक्षा 10 के परिणाम में लड़कियों ने 0.35 प्रतिशत लड़कों से बेहतर प्रदर्शन किया है। परीक्षा के लिए पंजीकरण कराने वाली 99.24 प्रतिशत लड़कियां पास हुई हैं, जबकि लड़कों का पास प्रतिशत 98.89 प्रतिशत है। परीक्षा के लिए पंजीकृत सभी ट्रांसजेंडर छात्रों ने इसे पास कर लिया है।

मार्कशीट और सर्टिफिकेट एक साथ मिलेगी

वहीं सिक्योरिटी के लिहाज से इस बार सीबीएसई रजिस्ट्रेशन में मोबाइल नंबर और ओटीपी रखा गया है। डिजिटल लॉकर में मार्कशीट को सेव किया जा सकता है। ईमेल के जरिये छात्रों तक मार्कशीट पहुंचेगी।
सीबीएसई ने 21.5 लाख से अधिक छात्रों के लिए एक संयुक्त मार्कशीट सह प्रमाणपत्र जारी करने का निर्णय लिया है। आमतौर पर, मार्कशीट और सर्टिफिकेट दो अलग-अलग दस्तावेज होते हैं। इस साल मेरिट लिस्ट या 0.1 प्रतिशत मेरिट लिस्ट भी जारी नहीं की जाएगी।