August 11, 2022

लोकसभा में केंद्र ने दी जानकारी – कोरोना टीकाकरण पर खर्च हुए 9,725 करोड़

 5,187 total views,  4 views today

कोरोना महामारी से लड़ने के लिए देशभर में चलाये गए टीकाकरण अभियान पर केंद्र सरकार ने अब तक कुल 9725 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किए हैं। इसकी जानकारी शुक्रवार को लोकसभा में स्वास्थ्य राज्यमंत्री डॉ भारती प्रवीण पवार ने दी। उन्होंने बताया कि देश में चल रहे कोरोना टीकाकरण कार्यक्रम पर अब तक कुल 9725.15 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं, जिसमें टीकों की खरीद और टीकाकरण के लिए परिचालन लागत शामिल है। इसके साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि देश में टीकाकरण तेजी से चलता रहेगा। उन्होंने कहा कि अगस्त 2021 से दिसंबर 2021 के बीच कोरोना वैक्सीन की कुल 135 करोड़ खुराकें उपलब्ध होने की उम्मीद है।

आपूर्ति आदेशों के लिए अग्रिम भुगतान भी

स्वास्थ्य़ राज्यमंत्री ने बताया कि घरेलू वैक्सीन विनिर्माताओं के साथ खरीद करार करने में कोई देरी नहीं हुई है। निर्माताओं को उनके साथ दिए गए आपूर्ति आदेशों के लिए अग्रिम भुगतान भी किया गया है।

फाइजर वैक्सीन के लिए बातचीत चल रही- स्वास्थ्य मंत्री

इससे पहले लोकसभा में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने भी कोरोना वैक्सीन को लेकर टिप्पणी की। लोकसभा में बोलते हुए उन्होंने कहा कि भारत सरकार का एक विशेषज्ञ समूह अभी भी फाइजर के साथ कोरोना वैक्सीन आपूर्ति पर बातचीत कर रहा है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी कई बार टीकाकरण कार्यक्रम का राजनीतिकरण न करने की बात कह चुके हैं। हमारा उद्देश्य देश के प्रत्येक 18 साल से ऊपर के नागरिक का टीकाकरण करना है। यह राजनीति करने का समय नहीं है।
जानकारी के लिए बता दें कि देशभर में अबतक 42,34,17,030 से अधिक नागरिकों को कोरोना की वैक्सीन दी जा चुकी है।