इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए पेट्रोल पंप की तर्ज पर खोले जाएंगे चार्जिंग स्टेशन, पढ़िए पूरी खबर

पर्यावरण प्रदूषण को कम करने के लिए विभिन्न प्रकार की योजना बनाई जा रही है । प्रदूषण कम करने के लिए  देश में इलेक्ट्रिक वाहन को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसके लिए सड़क किनारे पेट्रोल पंप की तरह ही अब चार्जिंग स्टेशन बनने लगे हैं। इसी के तहत अब उत्तर प्रदेश परिवहन विभाग ने बड़ी पहल की है। आइये जाने यह पहल-

50 मिनट से एक घंटे के बीच एक इलेक्ट्रिक वाहन चार्ज हो जाएगा

उत्तर प्रदेश परिवहन विभाग लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए 10 चार्जिंग स्टेशन बनाएगा। इसके लिए कार्य शुरू कर दिया गया है । दीपालवी पर लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे चार पहिया इलेक्ट्रिक वाहन मालिकों को नए चार्जिंग स्टेशन का तोहफा देने की तैयारी है। एक्सप्रेस-वे पर दोनों तरफ इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए पेट्रोल पंप की तर्ज पर दस चार्जिंग स्टेशन खोले जाएंगे।
फिलहाल परिवहन विभाग ने एक कंपनी को चार्जिंग स्टेशन खोलने की अनुमति दी है। परिवहन विभाग चार्जिंग स्टेशनों पर प्रति वाहन की चार्जिंग कीमत उद्घाटन से पहले तय करेगा। ताकि तय कीमत पर वाहनों को आसानी से चार्ज किया जा सके। फिलहाल 50 मिनट से एक घंटे के बीच एक इलेक्ट्रिक वाहन चार्ज हो जाएगा।

पेट्रोल से सस्ता होगा

इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता कंपनियों के मुताबिक, इलेक्ट्रिक वाहनों पर प्रति किलोमीटर का खर्च एक रुपये आता है। जबकि पेट्रोल चलित वाहनों पर एक किलोमीटर का खर्च साढ़े पांच से छह रुपये के बीच आएगा। जिससे की इलेक्ट्रिक वाहनों पर खर्च पेट्रोल वाहन से करीब पांच गुना कम होगा।