August 16, 2022

अल्मोड़ा: जल संस्थान ने कसून गांव पहुंच कर लिए पीने के पानी के सैंपल

 1,802 total views,  2 views today

बच्चे की मौत के बाद जागा विभाग

ग्रामीण बिना फील्टर के ही गधेरे का पानी को पीने को मजबूर

बच्चे की मौत के बाद जल संस्थान भी हरकत में आ गया है । हवालबाग ब्लॉक के कसून ग्राम पंचायत में बच्चे की मौत के बाद जल संस्थान की टीम ने गांव पहुंच कर पीने के पानी के सैंपल लिए। ईई ने भी मौका मुआयना कर जायजा लिया।

पेयजल आपूर्ति करने वाली लाइन के फील्टर लंबे समय से चोक

ग्रामीणों ने बताया कि गांव को पेयजल आपूर्ति करने वाली लाइन के फील्टर लंबे समय से चोक हैं। ग्रामीण बिना फील्टर के ही गधेरे के पानी को पीने के लिए मजबूर हैं। ग्राम प्रधान दीपा मटियानी ने बताया कि क्षतिग्रस्त फील्टरों को ठीक करने के लिए कई बार विभागीय अधिकारियों से गुहार लगा चुके हैं। लेकिन फील्टर ठीक किए बिना ही गांव में पेयजल आपूर्ति की जा रही है। विभाग की ओर से खराब फील्टरों को ठीक करने के लिए कोई कार्यवाही नहीं की गई। इससे ग्रामीणों में भारी आक्रोश है।

डीएम से पानी की जांच करवाने की मांग उठाई

कसून गांव में हुई घटना के बाद शुक्रवार को जिला पंचायत सदस्य महेश नयाल ने डीएम से मुलाकात की। कसून समेत आसपास के ग्राम पंचायतों में पीने के पानी की जांच की मांग की है। इसके अलावा उन्होंने विद्यालयों की पेयजल टैंकों में सफाई और पेयजल शुद्धता के लिए आवश्यक दवाइयां डालने, गांवों में प्राथमिक उपचार व दवाइयां वितरण करने की भी मांग की। उन्होंने कसून ग्राम पंचायत को पेयजल आपूर्ति करने वाले एक साल से बंद फील्टरों को ठीक करने की मांग  भी उठाई।