November 29, 2021

माना ने रचा इतिहास, ओलंपिक में क्वालीफाई कर बनीं पहली भारतीय महिला तैराक

 3,736 total views,  2 views today

भारतीय महिला तैराक माना पटेल ने टोक्यो ओलंपिक में क्वालीफाई कर इतिहास रच दिया है। ऐसा करने वाली वह पहली खिलाड़ी बनीं हैं। माना पटेल से पहले अब तक किसी भी भारतीय महिला तैराक ने ओलंपिक के लिए क्वालीफाई नहीं किया था। 21 वर्षीय माना पटेल अब भारत की ओर से टोक्यो ओलंपिक में पदक के लिए अपनी दावेदारी पेश करेंगी। भारतीय तैराकी महासंघ के अनुसार माना की विश्वविद्यालय कोटा से टोक्‍यो ओलंपिक में भागीदारी की पुष्टि हो गयी है। माना अब टोक्‍यो ओलंपिक में 100 मीटर बैकस्ट्रोक प्रतियोगिता में भाग लेंगी।

क्वालीफाई करने वाली कुल तीसरी भारतीय तैराक है

वह इन खेलों के लिये क्वालीफाई करने वाली कुल तीसरी भारतीय तैराक है। उनसे पहले श्रीहरि नटराज और साजन प्रकाश ने हाल में ओलंपिक क्वालीफिकेशन टाइमिंग में ‘ए’ स्तर हासिल करके क्वालीफाई किया था। उनके ओलंपिक में क्वालीफाई करने के बाद खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने उन्हें बधाई दी है। माना गुजरात से आती हैं, इस मौके पर राज्य के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने भी उन्हें बधाई दी है।

विश्वविद्यालय कोटे से किया क्वालीफाई

विश्वविद्यालय कोटा से किसी एक देश के एक पुरुष और एक महिला खिलाड़ी को ओलंपिक में भाग लेने का मौका मिलता है बशर्ते उस देश के किसी अन्य तैराक ने उस वर्ग में क्वालीफाई नहीं किया हो या ओलंपिक चयन समिति, समय के आधार पर अंतरराष्ट्रीय तैराकी महासंघ से निमंत्रण हासिल नहीं किया हो। वहीं इस उपलब्धि को हासिल करने के बाद माना ने कहा कि, ये शानदार अहसास है। मैंने साथी तैराकों से ओलंपिक के बारे में सुना है और टेलीविजन पर इन्हें देखा है और कई तस्वीरें देखी हैं। लेकिन इस बार वहां होना, दुनिया के बेस्ट खिलाड़ियों से मुकाबला करना शानदार होगा और मैं रोमांचित हूं।

राष्ट्रीय रिकॉर्ड भी बनाया था

माना ने अप्रैल में उज्बेकिस्तान ओपन तैराकी चैंपियनशिप में हिस्सा लिया था, जिसमें उन्होंने 100 मीटर बैकस्ट्रोक प्रतियोगिता में एक मिनट 04.47 सेकेंड का समय निकालकर स्वर्ण पदक जीता था। टोक्‍यो ओलंपिक की तैयारियों के लिये उन्होंने हाल ही में सर्बिया और इटली में प्रतियोगिताओं में भी हिस्सा लिया था। इस दौरान बेलग्रेड में उन्होंने 100 मीटर बैकस्ट्रोक में राष्ट्रीय रिकॉर्ड भी बनाया था।