January 21, 2022

उत्तराखंड: जानिये भारतमाला परियोजना में उत्तराखंड के कौन से छह राज्यमार्ग किये जाएंगे शामिल

 2,881 total views,  2 views today

लोनिवि मंत्री सतपाल महाराज ने बताया कि उन्होंने केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से बातचीत के दौरान, केंद्र सरकार की भारतमाला परियोजना के तहत उत्तराखंड के छह राज्यमार्गों को शामिल करने का प्रस्ताव रखा और केंद्र ने सहमति प्रदान की है। इसके अतिरिक्त नए राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-109के (सिमली-जौलजीबी) के सुदृढ़ीकरण एवं चौड़ीकरण के लिए लोनिवि उत्तराखंड को निर्माण एजेंसी के रूप में कार्य करने की स्वीकृति दी है।

इन्हें राजमार्ग घोषित करने के प्रस्ताव पर भी सहमति जताई है

सतपाल महाराज ने बताया कि केंन्द्र ने खैरना-रानीखेत, बुआखाल-देवप्रयाग, देवप्रयाग-गजा-खाड़ी, पांडुवाखाल-नागचूलाखाल-रिखाड-बैजरो, बिहारीगढ़-रोशनाबाद व लक्ष्मणझूला- दुगड्डा-नैनीडांडा-मोहान-रानीखेत राज्यमार्गों को भारतमाला परियोजना फेज-दो में लेने और फिर इन्हें राष्ट्रीय राजमार्ग में शामिल करने के लिए हामी भर दी है। इसके अलावा ऋषिकेश-भानियावाला मार्ग को राजमार्ग घोषित करने के प्रस्ताव पर भी सहमति जताई है।

केंद्र ने लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए

राज्य मंत्री के अनुसार केंद्र ने लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए कि वे वन विभाग के साथ चारधाम आल वेदर रोड परियोजना की कार्यवाही पर चर्चा करें। केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि केंद्रीय सड़क अवस्थापना निधि के लिए मुहैया कराई गई 615 करोड़ की राशि खर्च होने के बाद राज्य अतिरिक्त प्रस्ताव भेज सकता है।

सतपाल महाराज ने केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत से की मुलाकात

सतपाल महाराज ने केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत से भी मुलाकात की और प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत प्रदेश के हर खेत को पानी से संबंधित 349 करोड़ की लागत के 422 योजनाओं के प्रस्तावों पर भी चर्चा की।  उन्होंने केंद्र के समक्ष 94 करोड़ की लागत वाली भूजल से संबंधित 24 योजनाओं के लिए सोलर पंप की स्थापना को स्वीकृति दिए जाने का भी प्रस्ताव रखा।