December 5, 2022

उत्तराखंड की बेटी का महिला क्रिकेट टीम में हुआ चयन, पिता को याद करके दिया भावुक संदेश

 3,087 total views,  4 views today

आज हमारे पहाड़ की बेटियां देश विदेश में खुब नाम कमा रही है और उत्तराखंड को गौरवान्वित कर रही है। आज पूरे  विश्व में क्रिकेट जगत का खुब नाम है जिसमें लड़कियां भी बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रही है और खुब नाम कमा रही है।
अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में बेहतरीन प्रदर्शन करने वालों में एकता बिष्ट, मानसी जोशी का नाम सभी जानते हैं। भारत की बेहतरीन क्रिकेटर में ही एक नाम स्नेह राणा का भी है।

उत्तराखंड की स्नेह राणा को भारतीय टीम में मिली जगह-

इस बार इंग्लैंड दौरे के लिए उत्तराखण्ड से एकता बिष्ट के साथ स्नेह राणा को भी महिला भारतीय टीम में जगह मिली है। स्नेह राणा 5 साल पहले भी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेल चुकी हैं और अबक्षपूरे 5 साल बाद स्नेह की टीम में वापसी हुई है।

टीम इंडिया में जगह बनाने के लिए किया है खुब संघर्ष-

स्नेह राणा देहरादून की रहने वाली है। वह राइट आर्म ऑफ ब्रेक बॉलर और दाएं हाथ की बल्लेबाज है। उन्हें टीम इंडिया में जगह बनाने के लिए ख़ासा संघर्ष करना पड़ा और दोबारा उसी मुकाम को फिर हासिल करने के लिए भी स्नेह ने  2014 अपने में वन डे और टी-20 करियर की शुरुआत श्रीलंका के खिलाफ की। 2016 तक स्नेह राणा ने भारत की तरफ से 7 वन डे और 5 टी-20 मैच खेले। इसके बाद तो स्नेह को अगले पांच साल तक टीम इंडिया के लिए खेलने का मौका नहीं मिला। अब पांच साल के बाद स्नेह राणा ने इंग्लैंड दौरे के लिए टेस्ट, वन डे और टी-20 टीम में जगह बनायीं है।

पिता को याद करके हुई भावुक-

स्नेह राणा के पिता का हाल ही में निधन हुआ है। 5 साल की मेहनत का नतीजा मिलने के बाद स्नेह अपने पिता को याद कर भावुक हुईं। उन्होंने कहा कि वे अपनी बेटी को नीली जर्सी में देखने के लिए नहीं हैं। स्नेह ने इन्स्टाग्राम पर अपने पिता के नाम भावुक कर देने वाला सन्देश भी लिखा है, जिसमें उन्होंने यह लिखा कि-

“पापा यह आपके लिये। काश की आज आप यहाँ यह देखने के लिये होते और इस लम्हे को जीते। यह मेरे और मेरे परिवार के लिये एक भावुक क्षण है, आख़िरकार पांच साल बाद में फिर भारत की यह जर्सी पहन रही हूँ। मैं अपनी भावनाओं को जता नहीं सकती। जिन लोगों ने भी मेरा साथ दिया और मेरा मार्गदर्शन किया उन सभी का शुक्रिया. लिस्ट बहुत लम्बी है। भगवान को शुक्रिया। पापा अपना आशीर्वाद बनाए रखना। मुझे पता है आप हमेशा यहीं कहीं है। मैं आपको बहुत याद करती हूं और आपसे बहुत प्यार करती हूँ।”

You may have missed