December 8, 2021

अल्मोड़ा: सरकार के बाजार नहीं खोलने की अनुमति के फैसले पर व्यापार मंडल पदाधिकारियों ने जताई नाराजगी, दी उग्र आंदोलन की चेतावनी

 2,045 total views,  5 views today

उत्तराखंड में कोविड कर्फ्यू की अवधि को बढ़ा दिया गया है। जो 15 जून सुबह 6 बजे तक लागू रहेगा। जिस पर सरकार की ओर से कोविड कर्फ्यू के नाम पर बाजार खोलने की अनुमति न मिलने से व्यापारी मुखर हो गये है।

सरकार के इस फैसले के खिलाफ व्यापार मंडल पदाधिकारियों ने जताई नाराजगी-

अल्मोड़ा में आज व्यापारी चौक बाजार में एकत्र हुए। जिसमें अल्मोड़ा नगर उद्योग व्यापार मंडल पदाधिकारियों ने बाजार नहीं खोलने की अनुमति पर सरकार के इस फैसले के खिलाफ नाराजगी जताई है।

कोरोना कर्फ्यू के चलते व्यापारियों को हो रही है आर्थिक परेशानियां-

इस दौरान नगर व्यापार मंडल अध्यक्ष सुशील साह ने कहा कि सरकार पूरी तरह निरंकुश होकर तानाशाही रवैया इख्तियार कर रही है। जिसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जब मुंबई, दिल्ली, उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों में बाजार खुल रहे है तो उत्तराखंड में व्यापार क्यों बंद किया गया है। उन्होंने कहा कोरोना कर्फ्यू के चलते व्यापारियों के समक्ष अब भूख मरी जैसी स्थिति पैदा हो गई है। लेकिन सरकार अपनी तानाशाही रवैया अपनाये हुए है।

समस्त व्यापारी करेंगे उग्र आंदोलन-

जिसमें चेतावनी दी कि सरकार जल्द बाजार खोलने का निर्णय नहीं लेती है, तो समस्त व्यापारी उग्र आंदोलन को मजबूर होगें। जिसकी समस्त जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी।

मुख्यमंत्री का पुतला फूंका-

इस दौरान नाराज व्यापारियों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए उग्र आंदोलन की चेतावनी दी। और मुख़्यमंत्री का पूतला फूंका।

इस दौरान यह लोग रहे मौजूद-

इस दौरान गर व्यापार मंडल अध्यक्ष सुशील साह, सचिव मयंक बिष्ट, उपाध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद, प्रत्येश पांडे, अमन नज्जौन, राहुल बिष्ट, कार्तिक साह, अनीता रावत, दीप जोशी, बबलू गुप्ता, कुमुद भट्ट, मुमताज कश्मीरी, दिनेश गोयल, सुभाष गोयल, अजीत कार्की, अभय कुमार, आशुतोष भट्ट, आसिफ, जिशान, राजेंद्र अग्रवाल, नवीन चंद्र पांडे, ज्योति कपूर, नौशाद, त्रिलोचन जोशी, मुमताज कश्मीरी, दीप लाल साह, अंकुर बिष्ट, सागर रावत, मोहम्मद नौशाद आदि लोग मौजूद रहे।