January 27, 2022

रानीखेत के बिनसर महादेव मंदिर में बादल फटने जैसे हालात हुए पैदा, मंदिर परिसर में घूसा पानी, हुआ नुकसान

 6,886 total views,  4 views today

बिनसर महादेव मंदिर के परिसर में घूसा पानी

अल्मोड़ा क्षेत्र में आज हुई तेज बारिश आफत भी लेकर आई। बीती बुधवार की रात भी खुब तेज बारिश रही। सौनी-बिनसर क्षेत्र में अतिवृष्टि से बादल फटने जैसे हालात हो पैदा हो गए, स्वर्गाश्रम बिनसर महादेव में बाढ़ जैसी स्थिति बन गई। मंदिर से लगे गधेरे के ऊफान में आने के साथ आस-पास से भी मंदिर के परिसर में बारिश का पानी बाढ़ की तरह बहने लगा, इससे अफरा-तफरी मच गई।

परिसर में पूजा सामग्री की दुकान को भी हुआ नुकसान-

जिससे मंदिर परिसर में बनी फूलों की बगिया बाढ़ के पानी में बह गई। परिसर में पूजा सामग्री की दुकान को भी नुकसान पहुंचा है। मंदिर परिसर में हिमांशु पंत की पूजा सामग्री की दुकान में भी पानी आने से सामान खराब हो गया। हालांकि मंदिर को अधिक नुकसान की सूचना नहीं है। बाढ़ के चलते मंदिर परिसर रोखड़ में बदल गया। मंदिर के महंत रामगिरी महाराज वर्तमान में बाहर है। हिमांशु ने बताया कि मंदिर व क्षेत्र में इस तरह के हालात कभी नहीं देखे। इस संबंध में मंदिर के पुजारी व मंदिर समिति के पदाधिकारियों से भी संपर्क नहीं हो सका।

सुबह से भारी बारिश का दौर जारी-

गुरुवार को क्षेत्र में सुबह से अपराह्न तक लगातार तेज बारिश का सिलसिला चला। सौनी, बिनसर क्षेत्र में भी मूसलाधार बारिश हुई। दुपहर करीब 11.45 बजे बिनसर महादेव क्षेत्र में अतिवृष्टि से बादल फटने जैसे हालात पैदा हो गए। प्रसिद्ध स्वर्गाश्रम बिनसर महादेव मंदिर से लगा गधेरा ऊफान में आ गया। गधेरे के अलावा ऊपरी क्षेत्र से भी मंदिर परिसर में पानी आने लगा। 

फूलों की सुंदर बगिया भी बही-

वहीं बाढ़ की स्थिति से मंदिर में रहने वाले मंदिर समिति के लोगों में अफरा-तफरी मच गई। हिमांशु पंत ने बताया कि आधे घंटे से अधिक समय तक पूरा मंदिर परिसर बहते पानी में डूबा रहा, जिससे भयावह मंजर बना रहा। बाढ़ से मंदिर परिसर में वृहद क्षेत्र में विकसित की गई फूलों की सुंदर बगिया बह गई।  मंदिर के शौचालय को भी हल्का नुकसान पहुंचा है। लेकिन शुक्रवार को इसका सही पता चल पाएगा।