October 16, 2021

अल्मोड़ा: जिलाधिकारी ने जागेश्वर में पर्यटन, कृषि, उद्यान, ग्राम्या, आदि विभिन्न विभागों के विकास कार्यों का किया स्थलीय निरीक्षण

 3,777 total views,  84 views today

जिलाधिकारी वन्दना सिंह ने आज जागेश्वर क्षेत्रान्तर्गत पर्यटन, कृषि, उद्यान, ग्राम्या, आदि विभिन्न विभागों के विकास कार्यों का स्थलीय निरीक्षण किया जिनमें जागेश्वर का पर्यटन विकास के अन्तर्गत प्रवेश द्वार, कार पार्किंग, सोलर लाईट, जागेश्वर स्थल का विकास, शौचालय, मार्गीय सुविधा, घाट का निर्माण, सैफ्टिग टैंक, एक्टिव साईनेज, लैण्ड स्केपिंग आदि कार्य है। उन्होंने 13 डिस्ट्रीक 13 डेस्टिनेशन योजना के अन्तर्गत जागेश्वर धाम में पवित्र जटागंगा उद्गम स्थल का सौन्दर्यीकरण, नदी में छोटे-छोटे झील निर्माण, जटागंगा से मुख्य मोटर मार्ग तक पैदल मार्ग के निर्माण कार्यों का भी निरीक्षण किया।
                    
स्वदेश दर्शन के अंतर्गत किए गए कार्यों का किया स्थलीय निरीक्षण-

निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने पर्यटन विकास विभाग द्वारा स्वदेश दर्शन के अंतर्गत किए गए कार्यों का स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने आरतोला के पास निर्मित भवन का निरीक्षण करते हुए कहा कि इसके रंग-रोगन, सौन्दर्यीकरण का कार्य ठीक प्रकार से किया जाए और आजीविका के माध्यम से एक बेकरी यूनिट स्थापित की जाए। इसके पश्चात जिलाधिकारी द्वारा जागेश्वर के पास भगरतोला के कृषक हरीश पांडे द्वारा पॉली हाउस में उत्पादित की जा रही सब्जियों का निरीक्षण किया। उन्होंने कृषक द्वारा उत्पादित की जा रही शिमला मिर्ची, फूल गोभी, टमाटर, फ्रेंचबीन के अतिरिक्त मधुमक्खी पालन को देखकर उनकी काफी सराहना की।
                        
दिए निर्देश-

जिलाधिकारी ने जिला उद्यान अधिकारी को निर्देश दिए कि जिन कृषकों द्वारा खेती की जा रही है उनके ऊपर 2 मिनट की डॉक्यूमेंट्री बनायी जाए जिससे और लोग भी खेती के लिए प्रोत्साहित हो सके। उन्होंने गांॅव में सिंचाई की व्यवस्था के लिए ठोस कार्य योजना बनाने के निर्देश भी संबंधित अधिकारियों को दिए। जिलाधिकारी ने जिला विकास अधिकारी को निर्देश दिए कि गांव में जंगली जानवरों द्वारा किए जा रहे नुकसान को रोकने के लिए जल्दी ही यहां पर तार-बाढ़ व सुरक्षा दीवार का प्रस्ताव बनाकर प्रेषित किया जाए। उन्होंने कहा कि यहां पर लोगों द्वारा जो सब्जी उत्पादन का कार्य किया जा रहा है वह अपने आप में सराहनीय है।
                           
मसाला उत्पादन के बारे में ली जानकारी-

इस दौरान जिलाधिकारी द्वारा उत्तराखंड राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत गठित जय मां संतोषी तुलसी एसएसजी स्वयं सहायता समूह, फुलई, जागेश्वर की महिलाओं द्वारा बनाए जा रहे मसाला उत्पादन के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि महिलाओं द्वारा आजकल बेहतर कार्य किये जा रहे हैं उन्होंने महिलाओं को अपने-अपने उत्पादों की मार्केटिंग करने के साथ ही उनकी पैकेजिंग पर विशेष ध्यान देने की बात कही।
       
उत्तराखंड विकेंद्रीकृत जलागम विकास परियोजना के संग्रह केंद्र का किया निरीक्षण-            

इसके उपरांत जिलाधिकारी ने ग्राम पंचायत गैराड़ मल्ला में जाकर उत्तराखंड विकेंद्रीकृत जलागम विकास परियोजना के संग्रह केंद्र का निरीक्षण किया। उन्होंने निरीक्षण के दौरान संग्रह की गयी उत्पादों के बारे में जानकारी प्राप्त की। इस दौरान जिलाधिकारी द्वारा सिरोही प्रजाति की बकरी पालन कर रही आनंदी रावत से जानकारी प्राप्त की। उन्होंने उप परियोजना निदेशक जलागम को निर्देश दिए कि गांव में क्लस्टर के माध्यम से लोगों को बकरी पालन, मुर्गी पालन के लिए प्रोत्साहित किया जाए जिससे लोगों की आजीविका में बढ़ोत्तरी हो सके। इस दौरान जिलाधिकारी ने खंड विकास अधिकारी को निर्देश दिए कि गांव में शिविर लगाकर लोगों की राशन कार्ड, पेंशन सहित जो भी समस्याएं हैं उनका निराकरण किया जाए।

यह लोग रहे उपस्थित-

निरीक्षण के दौरान जिला विकास अधिकारी के0के0 पंत, मुख्य उद्यान अधिकारी टी0एन0 पांडे सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।