October 22, 2021

अल्मोड़ा: पूर्व विधायक मनोज तिवारी एवं कांंग्रेसजनों ने उत्तराखंड सफाई कर्मचारी संघ अल्मोड़ा के आन्दोलन को दिया पूर्ण समर्थन

 1,975 total views,  2 views today


अल्मोड़ा जिलें में विगत कुछ दिनों से पर्यावरण मित्रों का अपनी मांगों को लेकर आंदोलन चल रहा है। जिसमें इस आन्दोलन को समर्थन देते हुए अल्मोड़ा के पूर्व विधायक मनोज तिवारी एवं कांंग्रेस जिलाध्यक्ष पीताम्बर पान्डेय के नेतृत्व में कांंग्रेसजनों ने अपना समर्थन पत्र सौंपा।

पर्यावरण मित्र हमारे समाज का महत्वपूर्ण अंग-

पूर्व विधायक मनोज तिवारी ने कहा कि पर्यावरण मित्र अपनी जायज मांगों को लेकर विगत कुछ दिनों से आन्दोलन कर रहे हैं परन्तु प्रदेश सरकार अपनी आंखे मूंदे बैठी है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण मित्र हमारे समाज का महत्वपूर्ण अंग हैं और बेहद मजबूरी में उन्हें आज अपनी जायज मांगों के लिए आन्दोलन करना पड़ रहा है।उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार को अविलम्ब पर्यावरण मित्रों के साथ वार्ता कर उनकी मांगों को पूर्ण करना चाहिए।

पर्यावरण मित्रों की जायज मांगों को अविलम्ब पूरा किया जाए-

जिलाध्यक्ष पीताम्बर पान्डेय ने कहा कि कोरोनाकाल में पर्यावरण मित्रों ने अपनी जिन्दगी की परवाह ना करते हुए हरदम अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाई है। सरकार पर्यावरण मित्रों की जायज मांगों को अविलम्ब पूरा करे।उन्होंने कहा कि आज पर्यावरण मित्रों के आन्दोलन से हर जगह की सफाई व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गयी है। हर जगह गन्दगी का अंबार लगा है। सरकार को सोचना चाहिए कि इस तरह गन्दगी के ढेर लगने से महामारी का खतरा उत्पन्न हो सकता है, इसलिए सरकार अपनी हठधर्मिता छोड़े और शीघ्र पर्यावरण मित्रों की मांगों को पूरा करे।

पर्यावरण मित्रों के साथ यह नाइंसाफी दुर्भाग्यपूर्ण-

महिला जिलाध्यक्ष लता तिवारी ने कहा कि आज पर्यावरण मित्रों के साथ जो नाइंसाफी प्रदेश की सरकार कर रही है वह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। जब सरकार बार बार यह कह रही है कि वह हर क्षेत्र में लोगों के लिए आर्थिक पैकेज दे रही है तो क्यों प्रदेश सरकार पर्यावरण मित्रों की मांग को पूरा नहीं कर रही है। 

सरकार इस मुद्दे पर जरा भी गंभीर होती तो प्रभारी मंत्री अल्मोड़ा में  होते हुए पर्यावरण मित्रों से अवश्य मुलाकात करते-

जिला प्रवक्ता राजीव कर्नाटक ने कहा कि हमारे पर्यावरण मित्र पूरी मेहनत से अपना काम करते हैं।तो क्यों प्रदेश सरकार उनकी मांगों को अनसुना कर रही है? उन्होंने कहा कि सरकार क्यों पर्यावरण मित्रों की ओर आंखे मूंदे बैठी है ये समझ से परे हैं। कर्नाटक ने कहा कि विगत दिनों प्रदेश सरकार के पेयजल मंत्री और प्रभारी मंत्री अल्मोड़ा आये थे। यदि प्रदेश सरकार इस मुद्दे पर जरा भी गंभीर होती तो प्रभारी मंत्री अल्मोड़ा में होते हुए पर्यावरण मित्रों से अवश्य मुलाकात करते और उनकी बात सुनते। उन्होंने कहा कि सरकार को इस कोरोनाकाल में गंभीरता दिखाते हुए पर्यावरण मित्रों की मांगों को पूरा करना चाहिए।ताकि पूरे प्रदेश की सफाई व्यवस्था पटरी पर लौट सके।कांंग्रेसजनों ने एक स्वर में प्रदेश सरकार और सूबे के मुख्यमंत्री से मांग की है कि पर्यावरण मित्रों की जायज मांगों को अविलम्ब पूर्ण किया जाए।

इस दौरान यह लोग रहे उपस्थित-

इस दौरान देवभूमि उत्तराखंड सफाई कर्मचारी संघ को अपना समर्थन देने वालों में पूर्व विधायक मनोज तिवारी,कांंग्रेस जिलाध्यक्ष पीताम्बर पान्डेय,महिला जिलाध्यक्ष लता तिवारी,नगर अध्यक्ष पूरन सिंह रौतेला,जिला उपाध्यक्ष गोपाल सिंह चौहान,जिला उपाध्यक्ष पारितोष जोशी,जिला उपाध्यक्ष तारा चन्द्र जोशी,जिला प्रवक्ता राजीव कर्नाटक,जिला सचिव दीपांशु पान्डेय,प्रदेश महामंत्री प्रीति बिष्ट,महिला नगर अध्यक्ष गोपा नयाल,राधा बिष्ट,लीला जोशी,ज्योति बिष्ट,राबिन भण्डारी,रमेश नेगी,अम्बीराम आदि उपस्थित रहे।