September 29, 2023

Khabribox

Aawaj Aap Ki

अल्मोड़ा: पूर्व दर्जा मंत्री बिट्टू कर्नाटक ने किया मेधावी विद्यार्थियों तथा शिक्षकों को सम्मानित

कोरोना काल में शिक्षा व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिये शिक्षकों द्वारा आन-लाईन पढाई कराकर सराहनीय पहल की और शिक्षा के क्षेत्र में उदाहरण पेश किया है साथ ही विद्यार्थियों ने कठोर परिश्रम से बोर्ड परीक्षा में श्रेष्ठ सफलता अर्जित की गयी जिसके लिये उनके इन प्रयासों की सराहना करने तथा उन्हें प्रोत्साहित करने के लिये वरिष्ठ कांग्रेसी नेता/पूर्व दर्जा मंत्री बिट्टू कर्नाटक द्वारा विधानसभा अल्मोडा के समस्त उ0मा0विद्यालयों/इन्टर कालेज के विद्यालयों में अध्ययनरत मेधावी छात्र/छात्राओं तथा शिक्षक/कर्मचारियों को सम्मानित किया जा रहा है ।

सम्मान समारोह का आयोजन किया गया

इसी प्रयास के तहत आज उनके द्वारा हरीदत्त पेटशाली इन्टर कालेज चितई के विद्यार्थियों तथा शिक्षक/कर्मचारियों को सम्मानित किये जाने हेतु सम्मान समारोह का आयोजन किया गया । जिसमें  120 छात्र/ छात्राओं ,शिक्षक/कर्मचारियों तथा अभिभावकों ने प्रतिभाग किया । कार्यक्रम का शुभारम्भ करते हुये श्री कर्नाटक द्वारा शिक्षक/कर्मचारियों,विद्यार्थियों तथा अभिभावकों का स्वागत ,अभिनन्दन किया गया और शिक्षकों/कर्मचारियों को कोरोना काल में शिक्षा के क्षेत्र में दिये योगदान के लिये अंगवस्त्र व प्रतीक चिन्ह तथा मेधावी छात्र/छात्राओं के मनोबल को ऊंचा रखने के लिये उन्हें मेडल पहनाकर अंगवस्त्र एवं प्रतीक चिन्ह से सम्मानित किया गया ।

प्रधानाचार्या द्वारा श्री कर्नाटक का स्वागत,अभिनन्दन किया गया

               प्रधानाचार्या द्वारा श्री कर्नाटक का स्वागत,अभिनन्दन किया गया और ग्रामीण अंचल के इस विद्यालय में सम्मान समारोह आयोजित किये जाने हेतु उनका आभार व्यक्त करते हुये कहा कि पूर्व दर्जा मंत्री बिट्टू कर्नाटक द्वारा सामाजिक क्षेत्र में जो कार्य किये जा रहे हैं वे सराहनीय हैं और अब विद्यालयों के मेधावी छात्र/छात्राओं,शिक्षक/कर्मचारियों को सम्मानित कर शिक्षा के लिये उन्हें प्रोत्साहित किये जाने का जो कार्य किया जा रहा है इससे हमें अधिक ऊर्जा प्राप्त होगी साथ ही विद्यार्थी भी प्रेरित होकर और अधिक उच्च मुकान प्राप्त करने हेतु प्रयासरत रहेंगे और इस सम्मान से उनका मनोबल बढेगा । उन्होंने कहा कि शिक्षकों तथा विद्यार्थियों के इस प्रकार के सम्मान ने उनका गौरव व मनोबल बढाया है जिसके लिये वे श्री कर्नाटक के आभारी हैं तथा उनके उज्जवल भविष्य की कामना करते हैं ।

शिक्षक ही छात्र/छात्राओं के व्यक्तित्व का सर्वांगीण विकास कर उनमें अच्छे मूल्यों और आदर्शो को विकसित करते हैं

             श्री कर्नाटक ने अपने संवाद में कहा कि शिक्षक ही छात्र/छात्राओं के व्यक्तित्व का सर्वांगीण विकास कर उनमें अच्छे मूल्यों और आदर्शो को विकसित करते हैं जिससे कि वे आगे चलकर देश के उत्तम नागरिक बन कर देश की उन्नति एवं विकास में अपना योगदान दे सकें ।  छात्रों को सम्बोधित करते हुये उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की विषम परिस्थिति में भी विद्यार्थियों ने आन-लाईन पढाई कर बोर्ड परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त कर अपने गुरूओं तथा अपने माता पिता के गौरव को बढाया है । उन्होंने छात्रों को ज्ञान रूपी प्रकाश की राह दिखाते हुये कहा कि यदि तुम्हें अपने गुरूजनों,माता-पिता,अपने राज्य व देश का नाम रोशन करना है तो आप अपने अवगुणों का त्याग करें ,कड़ी मेहनत ,लक्ष्य निर्धारित कर पढ़ें   तो सफलता अवश्य मिलेगी । उन्होंने  कहा कि हमारा कर्तव्य है कि स्कूली बच्चों का आत्मविश्वास,मनोबल को बढाया जाय और उन्हें समय-समय पर प्रोत्साहित किया जाय ताकि वे आगे चलकर प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये मानसिक रूप से तैयार रहकर सफलता के उच्च शिखर पर पहुंच सकें । उन्होंने  विद्यार्थियों को सम्बोधित करते हुये कहा कि पढाई के अतिरिक्त शारीरिक दक्षता के खेलों में भी प्रतिभाग करना अत्यन्त आवश्यक है ताकि छात्र/छात्रायें मानसिक व शारीरिक रूप से भी स्वस्थ्य रह सकें । श्री कर्नाटक ने युवाओं तथा छात्रों से नशे/मादक पदार्थो से दूर रहने तथा कुसंगति से बचने का आह्वान भी किया ।

यह लोग रहे मौजूद

            इस अवसर पर मुख्य रूप से ग्राम प्रधान गौरव काण्डपाल,हेम चन्द्र जोशी,धीरज बिष्ट,किरन कोरंगा,रश्मि काण्डपाल,प्रकाश मेहता आदि सहित समस्त शिक्षक/कर्मचारी तथा अभिभावक उपस्थित थे । कार्यक्रम का संचालन दिव्या पाटनी द्वारा किया गया ।
                                                                                                                          
                                                      

error: Content is protected !!