October 27, 2021

अल्मोड़ा: लमगड़ा तहसील में बिना अनुमति के सड़क बनाने के लिए काटे हरे भरे पेड़, सूचना पर पहुंची राजस्व विभाग व वन विभाग की टीम

 2,028 total views,  2 views today

पर्यावरण का मानव जीवन से गहरा संबंध होता है, जिसमें पेड़ों की भी अहम भूमिका होती है। इसके बावजूद भी लोग हरे भरे पड़ो को काट रहे हैं। ऐसा ही एक मामला अल्मोड़ा जिले के लमगड़ा तहसील से सामने आया है।

सड़क बनाने के नाम पर काटे हरे पेड़-

यह मामला तहसील के धारखोला पटवारी क्षेत्र के पटोई गांव का है। क्षेत्र के लिए चायखान -बिसौड़कोट लिंक मोटर मार्ग बना है लेकिन पटोली के लिए रोड नहीं बन सकी है। इधर कुछ लोगों ने गांव के रास्ते में जेसीबी लगा कर रोड बनाने का काम शुरू कर दिया। जिसमें लमगड़ा तहसील के एक गांव में बिना अनुमति के सड़क बनाने का मामला सामने आया है। जिसमें यह आरोप लगाया गया है कि इसके लिए उपयोग में लाई गई जेसीबी की चपेट में आने से कई पेड़ भी धाराशाही कर दिए गए हैं।

सूचना पर राजस्व विभाग व वन विभाग की टीम पंहुची गाँव-

इस अवैध कार्य की जानकारी मिलने पर शिकायत राजस्व व वन विभाग तक पहुंची।  राजस्व उपनिरीक्षक राजेंद्र जोशी व भुवन चंद्र तिवारी वन विभाग की टीम के साथ मौके पर पहुंचे और मामले की जांच शुरू हो गई है। फिलहाल काम रोक दिया गया है। जिसमें यह भी जानकारी मिली है कि जेसीबी मशीन को क्षेत्र से हटा दिया गया है। 

21 पेड़ कटे हुए मिले-

राजस्व उपनिरीक्षक राजेंद्र जोशी ने बताया कि गांव में जेसीबी मशीन के माध्यम से अवैध रूप से सड़क का कटान की शिकायत पाई गई है। लगभग 300 मीटर कटान भी कर लिया गया था। उन्होंने बताया कि मौका मुआयना के दौरान 21 पेड़ कटे हुए मिले, जिसमें 14 हरे पेड़ व 7 सूखे पेड़ शामिल हैं। मामले की फिलहाल जांच की जा रही है। इसके बाद उप जिलाधिकारी को रिपोर्ट सौंपी जाएगी।