November 27, 2022

बागेश्वर: रोजगारपरक आवेदनों पर किसी भी प्रकार की न बरती जाए लापरवाही- डीएम

 2,557 total views,  2 views today

आज जिलाधिकारी विनीत कुमार की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में जिला स्तरीय पुनरीक्षण (डी0एल0आर0सी0) सह जिला सलाहकार एवं समन्वय समिति की समीक्षा बैठक आयोजित हुई। इस बैठक में जिलाधिकारी ने विभिन्न विभागों द्वारा संचालित रोजगार के लिए  संचालित जन कल्याणकारी योजनाये जिसमें रोजगार के लिए बेरोजगारो को स्वरोजगार के लिए अपना रोजगार शुरू करने के लिए ऋण उपलब्ध कराने के लिए विभागवार एवं बैंकवार समीक्षा की गयी।

संबंधित बैंकर्स द्वारा कोई भी ठोस जानकारी न देने पर जिलाधिकारी ने जताई गहरी नाराजगी-

जिसमें समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने विभिन्न विभागों द्वारा संचालित रोजगारपरक योजनाओं के लिए ऋण उपलब्ध कराने के लिए संबंधित बैंकर्स द्वारा संबंधित विभागों द्वारा बैंको को उपलब्ध कराये गये आवेदन पत्रो पर की गयी कार्यवाही के संबंध में जानकारी ली गयी तो संबंधित बैंकर्स द्वारा कोई भी ठोस जानकारी न देने पर जिलाधिकारी ने गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए संबंधित बैंकर्स एवं विभागो को निर्देश दियें कि सरकार की पहली प्राथमिकता है कि स्वरोजगार से संबंधित जो भी ऋण के लिए आवेदन पत्र प्राप्त होते है उनका शीर्ष प्राथमिकता के साथ निराकरण करना सुनिश्चित करें। साथ ही अगली बैठक में इस संबंध में पूरी जानकारी दी जाए।

रोजगारपरक आवेदनों पर किसी भी प्रकार की न बरती जाए लापरवाही-

उन्होंने सभी बैंकर्स को हिदायद दी कि रोजगारपरक आवेदनों पर किसी भी प्रकार की लापरवाही एवं शिथिलता न बरती जाय। अब कोरोना संक्रमण धीरे-धीरे कम होता जा रहा है इसके लिए ऋण जमा अनुपात में जो धीमी प्रगति है उसे आगामी तीन माह में सभी बैंक तेजी लाए, इसमें किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाय।

जिलाधिकारी ने बेरोजगार युवाओ को स्वरोजगार से जोड़ने के संबंध में कहीं यह बात-

जिलाधिकारी ने कहा कि सरकार का मुख्य उद्देश्य बेरोजगार युवाओ को स्वरोजगार से जोड़ना है इसके लिए जो भी लक्ष्य निर्धारित किया है उस लक्ष्य को किसी भी दशा में 30 सिंतबर, 2021 तक प्राप्त आवेदनो पत्रों का स्वीकृति करते हुए ऋण उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि इसके लिए मुख्य विकास अधिकारी द्वारा सभी विकासखंडों में संबंधित अधिकारियों एवं बैंकर्स द्वारा कैंप लगाने के लिए तिथि निर्धारित की गयी है इसके लिए सभी अधिकारी कैंप में उपस्थित होकर रोजगारपरक योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार करते हुए आम जनमानस को जानकारी उपलब्ध करायी जाय। उन्होने निर्देश दियें कि स्वरोजगार के लिए जो भी आवेदन पत्र उपलब्ध हुए है उन्हें 15 सिंतबर, 2021 तक सभी बैंको को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। बैठक में जिलाधिकारी ने सभी बैकर्स को यह भी निर्देश दियें कि जो बैंकर्स ऋण उपलब्ध कराने मे किसी भी तरह से ढिलाई बरतते है तथा प्राप्त आवेदन पत्रों को बिना ठोस कारणों के निरस्त करते है, तो ऐसे बैंको की सूची तैयार करने के निर्देश मुख्य विकास अधिकारी को दियें तथा यह भी कहा कि जिन बैंको की ऋण देने की गति धीमी है, ऐसे बैंको से जो भी सरकारी लेन-देन के खाते है उन्हें उचित प्रदर्शन करने बैंको को हस्तांतरित किये जायेंगे।

मुख्य विकास अधिकारी ने दिए यह निर्देश-

मुख्य विकास अधिकारी डीडी पंत ने उपिस्थत अधिकारियों एवं बैंकर्स को निर्देश दियें कि स्वरोजगार से संबंधित जो भी योजनायें संचालित हो रही है उन योजनाओं से अधिक से अधिक लोगो को जागरूक करने एवं लाभान्वित करने के उद्देश्य से जनपद के तहसील क्षेत्रान्तर्गत कैंप लगाने के लिए तिथि निर्धारित की गयी है, जिसमें 01 सिंतबर, 2021 को विकासखंड कपकोट, 04 से 06 सिंतबर, 2021 तक विकास खंड बागेश्वर में, 08 व 09 सिंतबर, 2021 को गरूड में, 10 सिंतबर, 2021 को तहसील काण्डा में, 11 सिंतबर को कठपुडियाछीना तथा 14 सिंतबर, 2021 को रीमा में कैंप का आयोजन किया जायेगा, जिसके लिए उन्होने सभी को निर्देश दियें कि वे अपने-अपने योजनाओं की जानकारी तथा बैंकर्स को निर्देश दिये कि ऋण हेतु उपलब्ध कराये जाने वाले अभिलेखों के संबंध में शिविर के माध्यम से पात्र लाभार्थियों को जानकारी उपलब्ध करायेगे ताकि अधिक से अधिक लोंगो को स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराये जा सकें।

लीड बैंक अधिकारी ने कराया अवगत-

बैठक में लीड बैंक अधिकारी एन0आर0 जौहरी ने अवगत कराया कि वर्ष 2021-22 की प्रथम तिमाही में जनपद का ऋण जमा अनुपात (सी.डी.रेसियां) 24.78 प्रतिशत है जो कि पिछला समयावधि में 24.88 प्रतिशत था तथा वार्षिक ऋण योजना के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2021-22 के लक्ष्य के सापेक्ष जून तिमाही में बैंको ने 378.11 करोड लक्ष्य के सापेक्ष 50.62 करोड का वित्तोपोषन किया गया जो वार्षिक ऋण योजना का 13.39 प्रतिशत रहा। फसली ऋण योजना में जून तिमाही में 82.57 करोड के लक्ष्य के सापेक्ष 24.39 करोड रही, जो लक्ष्य के 24.39 प्रतिशत हैं, जबकि पिछली समयावधि में 75.19 करेाड लक्ष्य के सापेक्ष 21.27 करोड था, तथा लक्ष्य का 28.30 प्रतिशत था। कृषि मियादी ऋण में 51.65 करोड लक्ष्य के सापेक्ष 1.02 करेाड हुई जो लक्ष्य का 1.98 प्रतिशत है।

यह लोग रहे उपस्थित-

इस दौरान बैठक में जिला विकास अधिकारी के0एन0तिवारी, परियोजना निदेशक शिल्पी पंत, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ0 उदय शंकर, महाप्रबन्धक उद्योग जी0पी0 दुर्गापाल, जिला ग्रामोद्योग अधिकारी के0एस0कम्र्याल, मुख्य कृषि अधिकारी वीपी मौर्या, जिला उद्यान अधिकारी आरके सिंह, सहित बैंक शाखा प्रबन्धक तथा विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।