August 15, 2022

गायत्री परिजनों ने नवरात्रों में मंदिरों में पशु बलि पर रोक लगाने के लिए डीएम को सौंपा ज्ञापन, चलाएंगे जन-जागरूकता अभियान

 1,173 total views,  17 views today

गायत्री परिजन आगामी शारदीय नवरात्रों में जिलेभर के मंदिरों में पशु बलि के खिलाफ अभियान चलाएंगे। गायत्री परिजनों की ओर से प्रथम नवरात्र पर चितई और गैराड़ मंदिर में जनजागरण अभियान चलाया जाएगा।परिजनों ने डीएम को ज्ञापन सौंप मंदिरों में पूर्ण रूप से पशु बलि पर रोक लगाने की मांग की है। वहीं चितई में पशुबलि रोकने के ऐहतियात के तौर पर पुलिस बल तैनात करने की मांग की।

भक्तजन बलि के लिए न लाएं मंदिर में बकरा

गायत्री परिजनों द्वारा ज्ञापन में कहा गया कि शारदीय नवरात्र शुरू होने वाले है, ऐसे में कई लोग मंदिर में पशुबलि को आते है। जिनपर रोक लगनी चाहिए। उनका कहना है कि कोई भी भक्तजन मंदिर में बलि के लिए बकरा नहीं लाये। पिछले कई सालों से गायत्री परिजन चितई मंदिर में पशु बलि के खिलाफ अभियान चला रहे हैं। जिसमें उन्हें काफी सफलता मिली है। नवरात्र पर गायत्री परिजन मंदिर में पशुबलि के खिलाफ अभियान चलाते हैं। उन्होंने श्रद्धालुओं से कहा कि गोलू मंदिर जन आस्था का केंद्र है। मंदिर परिसर के चारों ओर दो सौ मीटर परिधि में स्वच्छता बनाए रखने में भक्तजन सहयोग करें। मंदिर परिसर के पीछे कूड़ा नहीं फेंके।

ज्ञापन सौंपने वालों में यह लोग मौजूद

ज्ञापन सौंपने वालों में भीम सिंह अधिकारी, दीपा जोशी, मृदुल जोशी, इंद्रा, मंजू जोशी, ऊषा जोशी, सरोज मलकानी, डॉ. जेसी दुर्गापाल, मुन्नी बिष्ट आदि गायत्री परिजन रहे।